Height Kaise Badhayen | हाइट बढ़ाने के Little-Known तरीके और उपाए

Height Kaise Badhayen: हाइट व्यक्तित्व के निखार और आकर्षण का हिस्सा माना जाता है, आप में से कई लोग ये चाहते होंगे की उनकी हाइट और बढ़ जाये, परंतु इस बात का आप जरूर ध्यान रखें की हाइट कम होने के कारण आप कम आकर्षक या आत्मविश्वासी नहीं हो जाते। पिछले कुछ वर्षों में यह देखा गया है लोगों की औसतन लंबाई में काफी कम आई है, आज कल बहुत ही कम कोई लंबा व्यक्ति देखने को मिलता है। वैसे तो हाइट न बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं जैसे, खान – पान, जेनेटिक्स, जीवन शैली, दवाइयों (supplements) का उपयोग इत्यादि। विभिन्न कारकों को ध्यान में रखते हुए, इस लेख के माध्यम से हम यह जानेगे की हाइट कैसे बढ़ाएँ

रुकी हुई Height Kaise Badhayen

बच्चों और बड़ों की हाइट कैसे बढ़ाएँ के तरीके अलग होते हैं क्यूंकी उनकी हाइट न बढ़ने के कारक भी अलग हो सकते हैं। समय रहते अगर ध्यान दिया जाये तो बच्चों की लंबाई बढ़ने की गुंजाइश ज्यादा होती है, हालाकि ऐसा नहीं है की 18 वर्ष की आयु के बाद हाइट नहीं बढ़ाई जा सकती है। आमतौर पर यह देखा गया है की 21 – 22 आयु के बाद लम्बाई में बढ़ोत्तरी होने की संभावना बहुत कम होती है, लेकिन संभावना होती है। इसके साथ महिलाओं और पुरुषों में हाइट कैसे बढ़ाएँ के तरीकें और हाइट न बढ़ने के कारक भी अलग हो सकते हैं। 

इसी के साथ बच्चों और बड़ों की Height Kaise Badhayen के विभिन्न उपायों के बारें में जानेंगे –

बच्चों में हाइट कैसे बढ़ाने के तरीके

बचपन, एक ऐसी अवस्था जब बच्चों का शारीरिक और मानसिक दोनों ही विकास होते हैं। इस उम्र में बच्चे, चलना, बोलना और हर रोज़ नयी चीज़ें सीखते हैं। बचपन, यही वह सही समय है, जब माता – पिता को बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास तथा खान – पान पर ध्यान देना चाहिए। यदि माता – पिता को लगता है की कोई कारक बच्चे के विकास में रुकावट बना रहा है तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। इसी के साथ बच्चों की height kaise badhyen तथा किन – किन बातों का माता – पिता को ध्यान रखना चाहिए के बारें में जानते हैं –

गर्भवस्था के दौरान माँ अपना और बच्चे का ख्याल रखे

गर्भवस्था के समय से ही माँ के खान – पान का प्रभाव बच्चे के विकास पर पड़ता है क्यूंकी माँ जो भी आहार लेती है वही आहार बच्चे के विकास में सहायक होता है। इस समय पर माँ को पौष्टिक आहार लेना चाहिए और जंक फूड बिलकुल भी नहीं खाना चाहिए क्यूंकी यह बच्चे की शरीरिक और मानसिक विकास में रुकावट बन सकता है। ऐसे कई वैज्ञानिक शोध है जो यह बताते हैं की माँ के खान – पान और जीवन शैली के कारण बच्चे के विकास पर प्रभाव पड़ता है। 

गर्भवस्था के दौरान माँ अपना और बच्चे का ख्याल रखे

बच्चे को पौष्टिक और संतुलित आहार दें 

बच्चों की हाइट कैसे बढ़ाएँ के लिए यह एक बहुत महत्तवपूर्ण बिन्दु है, माता – पिता को यह ध्यान रखना चाहिए की क्या वो अपने बच्चे को पौष्टिक और संतुलित आहार दे रहे हैं की नहीं। आज के समय में busy lifestyle और आगे बढ़ने की होड़ में सिर्फ बड़े ही नहीं बच्चे भी बहुत अधिक प्रभावित हो रहें हैं, अब लोगों की जीवनशैली में धीमी आंच पर पके हुये पौष्टिक आहार की जगह, instant food और frozen food ने ले ली है जिसमे न सिर्फ nutrition value कम होती बल्कि preservatives भी मिलाये जाते हैं।

बच्चे को पौष्टिक और संतुलित आहार दें

पौष्टिक और संतुलित आहार बच्चों की हाइट बढ़ाने में सहायक होता है इसके लिए निम्न बातों का ध्यान रखें –

  • बच्चों के खान – पान में हरी पत्तेदार सब्जियाँ और फल शामिल होने चाहिए। 
  • एक संतुलित आहार के लिए प्रोटीन युक्त भोजन जैसे अंडे और दूध, दही भी शामिल होना चाहिए। 
  • कोशिश करें बच्चों को जंक फूड से दूर रखें, जंक फूड के जगह आप घर पर ही बच्चों के लिए tasty और healthy snacks बना सकते हैं। 
  • बच्चों को dry fruits जैसे बादाम, काजू, किशमिश, मूँगफली इत्यादि खाने को दें। 
  • बच्चों के खान – पान में विटामिन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, healthy fats, कैल्शियम, आइरन, ज़िंक, फाइबर, पोटेशियम इत्यादि शामिल होने चाहिए। 

व्यायाम और योग

सूर्यनमस्कार  height kaise badhayen

बच्चों की height kaise badhayen के लिए व्यायाम, योग और शारीरिक गतिविधियां भी बहुत जरूरी हैं। विभिन्न प्रकार के योग या व्यायाम बच्चों की हाइट बढ़ाने में सहायक होते हैं और साथ में यह बच्चों की हड्डियों को मजबूत बनाती हैं। बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए कुछ साधारण व्यायाम/ शारीरिक गतिविधियां –

  • रस्सी कूदना (skipping)
  • Hanging exercise 
  • Toe touching 
  • Stretching 

बच्चों के हाइट बढ़ाने के लिए कुछ सरल योगासन

  • सूर्यनमस्कार 
  • चक्रासना 
  • वृक्ष आसन
  • ताड़ासना
चक्रासना height kaise badhayen

उपरोक्त व्यायाम और योगासन के अलावा बच्चों को खेल – कूद के लिए भी प्रेरित करें। यह बच्चों की हाइट कैसे बढ़ाएँ में सहायक होने के साथ – साथ मानसिक विकास में भी सहायक है। इसके साथ – साथ बच्चों को बचपन से ही सही मुद्रा (posture) में बैठना – सोना और चलना सीखयें। 

बच्चों की दिनचर्या

उपरोक्त बिन्दुओं के साथ – साथ जरूरी है आपके बच्चे की दिनचर्या, और इस बात का भी ध्यान रखें की माता – पिता की दिनचर्या का प्रभाव बच्चों की दिनचर्या पर बहुत अधिक पड़ता है। बच्चों की height kaise badhayen इसके लिए जरूरी है की बच्चों की दिनचर्या सही हो, वे सही समय पर उठे, सही समय खान – पान ग्रहण करें, सही पर खेलें – कूदें और शारीरिक गतिविधियां करें।

यदि बच्चे सभी कार्य सही समय पर करेंगे तो उन्हें रात्रि में अच्छी – गहरी नींद भी सही समय पर आएगी। बच्चों की रात्रि निंद्रा लगभग 8 घंटे की तो अवश्य होनी चाहिए, इसके अलावा यह वह समय है जब मनाव शरीर सबसे ज्यादा क्रियाशील होता है। इसके साथ – साथ बच्चों में निंद्रा अवस्था में ही HGH hormones (Growth hormones) release होते हैं जो की इनकी हाइट बढ़ाने में बहुत सहायक होते हैं। 

जन्म के बाद से और 18 वर्ष के आयु से पहले बच्चों में कई शारीरिक और मानसिक विकास तेज़ी से होते हैं, यदि माता-पिता सही समय पर ही बच्चों के खान – पान, जीवन शैली, आदतों पर ध्यान दे तो बच्चों में कम हाइट जैसे समस्या उत्पन्न होने की संभावना बहुत कम होगी। विकास अवस्था में ही अगर इन बातों पर ध्यान दिया जाये तो 18 वर्ष की आयु के बाद हाइट कैसे बढ़ाएँ  के तरीकों की आवश्यकता बहुत कम पड़ेगी। क्यूंकी विकास की अवस्था निकल जाने के बाद लंबाई का बढ़ना थोड़ा मुश्किल होता है, किन्तु असंभव नहीं। चलिये इसी के साथ 18 वर्ष की आयु के बाद हाइट कैसे बढ़ाएँ के बारें में जानते हैं। 

18 वर्ष की आयु के बाद height kaise badhyen के तरीके

18 वर्ष के बाद हाइट बढ़ाने के तरीके भी लगभग बच्चों में हाइट बढ़ाने के तरीकों के समान ही होते है, लेकिन अब अधिक मेहनत और धैर्य दोनों की जरूरत होती है। क्यूंकी सबसे पहले आपने खान – पान और जीवन शैली से शरीर को क्षति हुई है उसे कम करना पड़ेगा और फिर हाइट बढ़ाने की कोशिश करनी होगी। 

समय और खान – पान

आप यह सोच रहे होंगे की समय और खान – पान का आपस में क्या लेना – देना है तथा उसका हाइट बढ़ाने से क्या मतलब है। लेकिन आपको को बता दें समय और खान – पान का आपस में बहुत कुछ लेना देना है। उम्र के बढ़ने के साथ पाचक क्रिया में भी बदलाव आता है, इसलिए जरूरी है की आप सही समय पर ही भोजन ग्रहण करने की आदत डाल लें। आयुर्वेद के अनुसार सूर्यास्त के पश्चात रात्रि भोजन नहीं करना चाहिए, किन्तु आज के समय में मध्यरात्रि में भोजन करना, snacks खाना यह आम बात हो गयी है। मध्यरात्रि में किया गया भोजन आपके शरीर में सिर्फ fat बढ़ाता है और HGH (Human Growth hormone) release को कम करता है। 

समय और खान – पान

पौष्टिक आहार

8 वर्ष की आयु की बाद height kaise badhayen के तरीके पढ़ना आसान है किन्तु इनका पालन करना मुश्किल है। पौष्टिक आहार को अपनी दिनचर्या में जोड़ने से पहले जरूरी है की सबसे पहले आप जंक – फूड का सेवन करना बंद करें और घर पर बने हुए संतुलित आहार का सेवन करें। अपने आहार में देसी गाय घी, दूध, दही, पनीर, दालें, फल (केला, चीकू, आम इत्यादि), खजूर, बादाम, हरी सब्जियाँ इत्यादि को शामिल करें जो आपके आहार की पौष्टिकता को बढ़ाते हैं और आपकी हाइट बढ़ाने में सहायक होते हैं। 

व्यायाम और शारीरिक गतिविधियों को अपने दिनचर्या में जोड़ें

आज के समय में वयस्कों जीवन में व्यस्त दिनचर्या, आगे बढ़ने की कोशिश के कारण उनके पास स्वयं के लिए ही समय नहीं होता है। लेकिन, अगर आप अपनी हाइट बढ़ाना चाहते हैं तो व्यायाम और शारीरिक गतिविधियों कुछ समय निकालना होगा, यदि आप सुबह समय नहीं निकाल सकते तो शाम में समय निकालें। हाइट बढ़ाने के लिए सूर्यनमस्कार, चक्रासना, वृक्ष आसन,तड़सना योगासन को काफी कारगर माना गया है। इसके आलवा कार्य के बीच में 5 – 10 का ब्रेक लेकर stretching, toe – touching कर सकते हैं। इसके आलवा 18 वर्ष के लिए height kaise badhayen के लिए कम समय में व्यायाम करने के विडियो लिंक्स निम्न हैं –

Stress न ले और अच्छी नींद लें

stress न ले और अच्छी नींद लें

आज के समय में वयस्कों का stress लेना आम बात हो गयी है। यह stress नींद को तो प्रभावित करता ही है तथा साथ – साथ में पाचन क्रिया के ढंग से संचालन में भी कभी – कभी रुकावट बनता है। वयस्क कोशिश करें की वे ज्यादा stress न लें और रात्रि में सही समय पर अच्छी नींद ग्रहण करें। अच्छी नींद HGH (Human Growth hormone) release करने में सहायक होती है और यह hormone हाइट बढ़ाने में सहायक होता है। स्ट्रैस दूर करने के लिए कुछ आर्टिक्ल और विडियो निम्न हैं –

Conclusion

हाइट कैसे बढ़ाएँ के लिए उपरोक्त बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए, 18 से 22 वर्ष के वयस्क अपनी हाइट बढ़ा सकते हैं। उपरोक्त बिन्दुओं के साथ वयस्क अपने शारीरिक posture का ध्यान रखें और धूम्रपान तथा शराब का सेवन न करें जो लंबाई बढ़ने में रुकावट बन सकता है। यह ध्यान रखें की इस उम्र में आपका शरीर विकसित हो चुका होता है इसलिए हाइट बढ़ने की संभावना थोड़ी कम होती है परंतु असंभव नहीं, लेकिन जिस तरह का विकास बचपन अवस्था में होता है, उस तरह का विकास इस आयु में संभव नहीं है। धैर्य रखें और height kaise badhayen जानकर हाइट बढ़ाने की कोशिश करें तथा अच्छे जीवनयापन के तरीकों को अपनाएं।  

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published.