Bharat Mein Kitne Rajya Hain, उनका इतिहास और उनसे जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य । Detailed Analysis

भारत विश्व का सातवाँ सबसे बड़ा देश है और अपने भौगोलिक विशेषताओं के कारण यह सबसे अलग दिखता है। भारत विश्व की सबसे पुरानी सभ्याताओं में से एक है जिसे समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के रूप में देखा जाता है। 1947 की आजादी के बाद भारत में कई प्रकार के बदलाव देखे गए है, ये बदलाव संवैधानिक रूप, सामाजिक – आर्थिक प्रगति रूप में हैं।

भारत विश्व का दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है और आजादी के बाद इतने बड़े देश को एक स्थान से, एक साथ चलाना आसान नहीं था, इसलिए इस देश को विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में बांटा गया, क्या आप जानते हैं की भारत में कितने राज्य हैं और कितने केंद्र शासित प्रदेश हैं? इतने बड़े क्षेत्रफल वाले देश को विभिन्न राज्यों में विभाजित करना भी आसान कार्य नहीं था इस लेख के माध्यम से Bharat mein kitne rajya hain के बारें में जानेंगे, परंतु राज्यों के बारें में जनाने से पहले उसके विभाजन के इतिहास के बारें में भी जानेंगे।

राज्यों के विभाजन का इतिहास

भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतन्त्र देश है और अगर बात की जाए Bharat mein kitne rajya hain तो वर्तमान समय में कुल 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं। भारत राज्यों का संघ (Union) है जिसका सिर्फ एक संविधान है एक राष्ट्रिय ध्वज है। भारत की आज़ादी से पहले भारत में कुल 565 रियासतें थी और 17 प्रांत थे, प्रान्तों पर अंग्रेजों का सीधा शासन था जबकि रियासतें पर अप्रत्यक्ष रूप से शासन था। भारत के राज्यों का विभाजन, भारत के संघ बनने से शुरू हुआ था, आए जानते हैं इसके बारें में –

  • 1947 में माउंटबेटेन प्लान या Indian Independence Act 1947 के अंतर्गत भारत के विभाजन हुआ और इसमे दो देश, भारत और पाकिस्तान बने।   
  • इस विभाजन के बाद भारत के हिस्से में कुल 552 रियासतें आई जिन्हे Instrument of accession के माध्यम से भारत संघ में जोड़ा गया। इन सभी रियासतों को भारत संघ में जोड़ने का जिम्मा सरदार वल्लभ भाई पटेल, वीपी मेनेन और माउंटबेटेन पर था। 
  • सभी रियासतों और ब्रिटिश अधीन प्रान्तों को मिलाकर भारत संघ बनने के बाद सन् 1950 में भारत का संविधान लागू हुआ। इसके साथ राज्यों का विभाजन का कार्य भी शुरू हो गया।
  • सर्वप्रथम सन् 1953 में भाषा के आधार पर बनने वाला पहला राज्य आंध्रप्रदेश था। इसके पश्चात राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 के तहत भाषा के आधार पर 14 राज्यों और 6 केंद्र शासित प्रदेशों का गठन हुआ।
  • राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 के बाद भी भारतीय राज्यक्षेत्रों में कई बदलाव होते रहे हैं। सन् 1960 में बॉम्बे राज्य को दो राज्यों गुजरात और महाराष्ट्र में विभाजित किया गया, सन् 1963 नागालैंड राज्य का निर्माण हुआ।
  • पंजाब पुनर्गठन अधिनियम 1966 के अंतर्गत पंजाब राज्य को चार राज्यों में बांटा गया। अब सन् 1956 में बने पंजाब राज्य में से हिमाचल राज्य, हरियाणा राज्य और चंडीगढ़ केंद्र शासित प्रदेश को अलग किया गया।
  • नॉर्थईस्ट पुनर्गठन अधिनियम 1972 के तहत मेघालय को राज्य का दर्जा दिया गया जो की पहले असम का हिस्सा था। इसी अधिनियम के तहत त्रिपुरा और मणिपुर को भी राज्य का दर्जा दिया गया जो की पहले (1956) केंद्र शासित प्रदेश थे।
  • सिक्किम पहले एक स्वतंत्र देश था जो की 16 मई 1975 को 22 वें राज्य के रूप में भारत संघ से जुड़ा। इसी के साथ सन् 1987 में मिज़ोरम और अरुणाचल प्रदेश को भी राज्य का दर्जा दिया गया जो की पहले (1956) असम राज्य में आते थे।  
  • पुर्तगालियों के अधीन गोवा को आज़ादी 19 दिसंबर 1961 मिली जिसे 30 मई 1987 में राज्य घोषित किया गया था।
  • सन् 2000 में तीन और राज्यों का निर्माण हुआ, छत्तीसगढ़ जो की पहले मध्य प्रदेश का हिस्सा था, उत्तरांचल जो की उत्तर प्रदेश का हिस्सा था, झारखंड जो की पहले बिहार का हिस्सा था।
  • इसी प्रकार 2 जून 2014 में तेलंगाना राज्य का निर्माण हुआ जो की पहले आंध्र प्रदेश का हिस्सा था।
  • 2019 में जम्मू और कश्मीर से आर्टिक्ल 370 के हटने के बाद 31 अक्टूबर 2019 को जम्मू और कश्मीर का राज्य का दर्जा हटा दिया गया और इसे दो केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया गया।
  • सन् 2020 में केंद्र शासित प्रदेशों दमन और दीव तथा दादर नागर हवेली को जोड़कर एक केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया था।
  • आज के समय में कुल 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं। सर्वप्रथम भारत में कितने राज्य है और उनकी राजधानी के बारें जानते हैं –

भारत के राज्य और उनकी राजधानी

देश के कार्यभार को सुचारु रूप से चालने के लिए राज्यों का निर्माण किया गया है, प्रत्येक राज्य की खुद की राज्य सरकार होती है और प्रत्येक राज्य सरकार के तीन मुख्य अंग विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका होते हैं। प्रत्येक राज्य का मुख्यमंत्री होता है तथा मुख्यमंत्री का चयन जनता के प्रतिनिधित्व (विधायकों) द्वारा होता है तथा मुख्यमंत्री का नियुक्तिकरण राज्यपाल द्वारा किया जाता है। आइये जानते हैं की Bharat mein kitne rajya hain

भारत के राज्य राज्यों की राजधानी  बोली जाने वाली प्रमुख भाषाएँ
असमदिसपुरअसमिया
आंध्रप्रदेशहैदराबादतेलेगु
अरुणाचल प्रदेशइटानगरहिन्दी, अँग्रेजी और असमिया
गोवापणजीकोंकणी
गुजरातगांधीनगरगुजराती और हिन्दी
महाराष्ट्रमुंबईमराठी
बिहारपटनाभोजपुरी और हिन्दी
छत्तीसगढ़रायपुरछत्तीसगढ़ी
मध्यप्रदेशभोपालहिन्दी
झारखंडरांचीसंथाली, कुड़खु और हिन्दी
पंजाबचंडीगढ़पंजाबी
हरियाणाचंडीगढ़हरियाणवी और हिन्दी
हिमाचल प्रदेशशिमलाहिन्दी पहाड़ी
कर्नाटकबंगलोरकन्नड
केरलतिरुवनंतपुरममलयालम
राजस्थानजयपुरराजस्थानी और हिन्दी
मेघालयशिलांगगारो, ख़ासी और अँग्रेजी
मिजोरमआइज़ोलअँग्रेजी और मिज़ो
नागालैंडकोहिमाकोन्यक, अंगामी और अँग्रेजी
सिक्किमगंगटोकसिक्किमी, अँग्रेजी और हिन्दी
त्रिपुराअगरतलाबंगाली, कोक्बोरोक, अँग्रेजी
तमिलनाडुचेन्नईतमिल
तेलंगानाहैदराबादतेलेगु
उत्तरप्रदेशलखनऊहिन्दी
उत्तराखंड (उत्तरांचल)देहारादूनहिन्दी
पश्चिम बंगालकोलकाताबंगाली, संथाली, हिन्दी
ओड़ीशाभुवनेश्वरउड़िया
मणिपुरइम्फालमणिपुरी (मैते)

राज्यों से जुड़े हुए कुछ महत्तवपूर्ण तथ्य –

  • अब जब आप जान चुके हैं कि Bharat mein kitne rajya hain तो आपको बता दें कि उन राज्यों में जनसंख्या के आधार पर उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा और सिक्किम सबसे छोटा राज्य है।
  • क्षेत्रफल के आधार पर राजस्थान सबसे बड़ा और गोवा सबसे छोटा राज्य है।
  • दस साल की अवधि (2024 तक) के लिए तेलंगाना और आंध्रप्रदेश की संयुक्त राजधानी हैदरबाद है इसके पश्चात आंध्रप्रदेश की राजधानी अमरावती होगी।
  • उत्तर प्रदेश भारत का अकेला ऐसा राज्य है जो सबसे अधिक नौ पड़ोसी राज्यों के साथ अपनी राज्य सीमा सांझा करता है।
  • पश्चिम बंगाल अकेला ऐसा भारतीय राज्य है जो की सबसे लंबी अंतरराष्ट्रिय भूमि सीमा बांग्ला देश के साथ सांझा करता है।
  • भारत का सबसे लंबी समुद्रीतट वाला राज्य गुजरात है।
  • मिज़ोरम वह राज्य है जहां सबसे अधिक जंगल का क्षेत्रफल (85.41%) उपलब्ध है।
  • भारतीय राज्य पंजाब का नाम, पाँच नदियों (झेलम, चिनाब, रवि, ब्यास, सतलुज) के नाम पर रखा गया है।

भारत के केंद्र शासित प्रदेश और उनकी राजधानी

क्षेत्रफल के अनुसार केंद्र शासित प्रदेश राज्यों की तुलना में बहुत छोटे हैं तथा ये सांस्कृतिक, भौगोलिक, और आर्थिक रूप में भी राज्यों से भिन्न होते हैं इसलिए इन प्रदेशों का संचालन सीधे केंद्र सरकार द्वारा होता है। इन सभी प्रदेशों के लिए राष्ट्रपति द्वारा उपराज्यपाल नियुक्त किए जाते हैं। इन आठ केंद्र शासित प्रदेशों में से दिल्ली और पॉण्डिचेरी केंद्र शासित प्रदेशों में विधान मण्डल है और ये अपनी सरकार बना सकते हैं। जम्मू और कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश भी दिल्ली और पॉण्डिचेरी की तरह है, इस प्रदेश में भी विधान मण्डल है और यहाँ सभी प्रशासनिक अधिकार राज्यपाल और मुख्यमंत्री के बीच में बंटे हुये हैं।

भारत के केंद्र शासित प्रदेश  राजधानीबोली जाने वाली प्रमुख भाषाएँ
जम्मू और कश्मीरश्रीनगर (गर्मी) जम्मू (सर्दी)कश्मीरी (कॉशुर), हिन्दी, उर्दू, डोगरी, पंजाबी
लद्दाखलेहलद्दाखी, हिन्दी
दिल्लीनई दिल्लीहिन्दी
चंडीगढ़चंडीगढ़हिन्दी, पंजाबी
अंडमान और निकोबार द्वीप समूहपोर्टब्लेयरहिन्दी
दमन और दीवदमनगुजराती और हिन्दी
पांडेचरीपांडेचरीतमिल
लक्षद्वीपकवरत्तीमलयालम, माहल, हिन्दी

केंद्र शासित प्रदेशों से जुड़े हुए कुछ महत्तवपूर्ण तथ्य –

  • फ़्रांस के अधीन पांडेचरी को आजादी 1 नवंबर 1954 में मिली और आधिकारिक तौर पर 1 जुलाई 1963 में पांडेचरी केंद्र शासित प्रदेश के रूप में भारत का अभिन्न हिस्सा बन गया।
  • अधीन दादर नागर हवेली को सन 1961 में पुर्तगालियों से मुक्त कराकर बतौर केंद्र शासित प्रदेश भारत में जोड़ा गया।
  • क्षेत्रफल के अनुसार जम्मू और कश्मीर सबसे बड़ा केंद्र शासित प्रदेश है। जम्मू और कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने से पहले अंडमान और निकोबार का क्षेत्रफल सबसे ज्यादा था।
  • क्षेत्रफल के अनुसार सबसे छोटा केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप है।
  • जनसंख्या के आधार पर दिल्ली सबसे बड़ा और लक्षद्वीप केंद्र शासित प्रदेश हैं।
  • लक्षद्वीप वह केंद्र शासित प्रदेश है जहां सबसे अधिक जंगल का क्षेत्रफल (90.33%) उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें- भारत की खोज किसने की?

निष्कर्ष

Bharat mein kitne rajya hain: भारत एक लोकतन्त्र, धर्मनिरपेक्ष देश है जहां विभिन्न – विभिन्न संस्कृति और धर्मों के लोग एक साथ समन्वय में खुशी – खुशी रहते हैं। भारत का भौगोलिक क्षेत्रफल और इसकी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत इसे अन्य देशों से अलग करती है। इस देश के प्रत्येक राज्यों में विभिन्न – विभिन्न भाषाएँ और संस्कृति मिलेगी लेकिन वे सभी आपस में कहीं न कहीं जुड़ी हुई हैं। संवैधानिक आधार पर भारत में कुल 22 भाषाएँ बोली जाती और भारत की आधिकारिक भाषा हिन्दी है। इस लेख के माध्यम से हमने Bharat mein kitne rajya hain और उनकी राजधानी, भारत के गठन, राज्यों के विभाजन, इनसे जुड़े हुए कुछ महत्तवपूर्ण तथ्यों के बारें में जाना है।

FAQs

वर्तमान समय, 2022 में Bharat mein kitne rajya hain?

वर्तमान समय में भारत में कुल 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश है। जम्मू कश्मीर से 370 आर्टिक्ल हटाने के बाद जम्मू और कश्मीर को दो हिस्सों – जम्मू और कश्मीर तथा लद्दाख में बाँट दिया गया, इसके साथ – साथ इन दोनों को केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया।

भारत का सबसे बड़ा राज्य कौन सा है?

क्षेत्रफल के अनुसार भारत का सबसे बड़ा राज्य राजस्थान है और जनसंख्या के आधार पर उत्तरप्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है।

भारत का सबसे छोटा राज्य कौन सा है?

क्षेत्रफल के अनुसार भारत का सबसे छोटा राज्य गोवा है और जनसंख्या के आधार पर सिक्किम भारत का सबसे छोटा राज्य है।

भारत में कितने केंद्र शासित प्रदेश हैं?

Bharat mein kitne rajya hain जानने के साथ ही यह भी जान लें कि वर्तमान समय में भारत में 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं, वे इस प्रकार हैं – जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार, दमन और दीव और दादर नागर हवेली, दिल्ली, पांडेचरी, चंडीगढ़ हैं।