Chand Par Kon Kon Gaya Hai | जानें अबतक चांद पर कौन-कौन गया है?

Chand Par Kon Kon Gaya Hai

चांद पर कौन-कौन गया है? (Chand par kon kon gaya hai): धरती के बाहर जीवन की परिकल्पना विज्ञान की वजह से संभव है और कई वैज्ञानिक इसी खोज में ग्रहों और उपग्रहों का अध्ययन करते हैं। इसी क्रम में, कई वैज्ञानिक चाँद पर जा चुके हैं और वहाँ पर जीवन की संभावनाओं को तलाश चुके हैं। अब चाँद सिर्फ किस्से और कहाँनियों में या खूबसूरती के परिचायक तक ही सीमित नही रह गया है, बल्कि यहाँ जाना और जीवन जीना संभव हो पाया है।

चाँद पर जाने वाले पहले व्यक्ति का नाम तो लगभग सभी को पता होता है, पर क्या आपको पता है कि अबतक चांद पर कौन-कौन गया है? शायद नहीं। इस लेख में हम चाँद पर जाने वाले सभी व्यक्तियों की जानकारी आपके साथ साझा करने जा रहे हैं।

अबतक चांद पर कौन-कौन गया है | Chand Par Kon Kon Gaya Hai?

चांद (moon) पर अबतक सिर्फ 12 लोगों ने ही कदम रखा है। अलग- अलग समय पर चाँद पर गये ये सभी व्यक्ति अमेरिका के नागरिक थे और इनमें सबसे पहले व्यक्ति नील आर्मस्ट्रांग हैं। नील को चाँद पर पहुँचाने का कार्य अमेरिकी स्पेस एंजेसी NASA ने किया था। आइये जानते हैं चांद पर जाने वाले सभी 12 लोगों के नाम क्या हैं, वे कब और कैसे चाँद पर पहुँचे थे इत्यादि जानकारी डिटेल में-

Chand Par Kon Kon Gaya Hai | चाँद पर जाने वाले 12 व्यक्तियों के नाम

1. नील आर्मस्ट्रांग (Neil Armstrong)

नील आर्मस्ट्रांग दुनियाँ के पहले ऐसे व्यक्ति है जिन्होनें चाँद पर अपना कदम रखा। नील अमेरिकी मूल के एयरोनाटिक इंजीनियर और अंतरिक्ष यात्री थे जो 20 जुलाई 1969 को नासा के अपोलो-11 मिशन के तहत चाँद पर पहुँचे थे। आर्मस्ट्रांग ने 1966 में नासा के जेमिनी 8 मिशन पर भी सफलतापूर्वक उड़ान भरी।

नील के अपोलो मिशन की सफलता के बाद उन्हे अमेरिकी राष्ट्रपित निक्सन द्वारा Presidential Medal of Freedom से सम्मानित किया गया था। इसके बाद, वर्ष 1978 के दौरान राष्ट्रपति रहे जिमी कार्टर ने नील आर्मस्ट्रांग को Congressional Space Medal of Honor से सम्मानित किया।

अमेरिका के Wapakoneta में जन्मे नील आर्मस्ट्रांग, सरकारी स्पेस एंजेसी नासा में कार्यरत थे, वर्ष 1971 में उन्होनें अपनी जाॅब से रिटायरमेंट ली और कालेजों में पढाना शुरू किया। 25 अगस्त 2012 को 82 वर्ष की उम्र में नील आर्मस्ट्रांग का Cincinnati में निधन हुआ।

2. बज एल्ड्रिन (Buzz Aldrin)

अगर बात की जाए कि Chand Par Kon Kon gaya Hai तो 20 जनवरी 1930 को Glen Ridge में जन्में बज एल्ड्रिन चाँद पर कदम रखने वाले दूसरे व्यक्ति हैं। वे नील आर्मस्ट्रांग के साथ अपोलो-11 मिशन के सहयात्री थे। 21 जुलाई, 1969 को, नील के चाँद पर कदम रखने के ठीक 19 मिनट बाद, Buzz Aldrin ने 03:15:16 (UTC) पर चंद्रमा पर पैर रखा। वह अपोलो 11 मिशन के दौरान ल्यूनर मोड्यूल पायलट थे जबकि नील आर्मस्ट्रांग उस यान के कमांडर थे।

बज एक अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री, इंजीनियर और पायलट हैं जिन्होनें नासा में अपनी सेवाएं दी और वर्तमान में रिटायर होकर वह फ्लोरिडा में रह रहे हैं। उन्होंने वर्ष 1966 में जेमिनी 12 मिशन के तहत पायलट के रूप में तीन स्पेसवॉक किए थे।

3. पीट कॉनराड (Pete Conrad)

पीट काॅनराड नासा के नवंबर 1969 के अपोलो मिशन -12 के कमांडर थे जिससे वह चाँद पर पहुँचने वाले तीसरे व्यक्ति बनें। काॅनराड नासा में एक विमान इंजीनियर के पद पर कार्यरत थे, हालाँकि, वर्ष 1973 में नासा से रिटायरमेंट लेने के बाद वह एक बिजनेसमैन के रूप में भी पहचाने जाने लगे थे।

2 जून 1930 को फिलैन्डेल्फिया, अमेरिका में जन्में पीट काॅनराड का एक एक्सीडेंट में निधन 8 जुलाई 1999 को 69 वर्ष की आयु में कैलिफोर्निया में हुआ था। काॅनराड ने अपोलो-12 मिशन के अलावा जीमनी 5, जीमनी 11, स्काईलैब 2 अंतरिक्ष मिशन में भाग लिया था।

4. एलन बीन (Alan Bean)

नासा में कार्यरत एलन बीन, एक एयरोनाॅटिकल इंजीनियर, नौसेना अधिकारी और परीक्षण पायलट थे। वह अपोलो-12 मिशन के तहत ही चंद्रमा पर पहुँचे थे और यह कारनामा करने वाले वह दुनियाँ के चौथे व्यक्ति बने थे। एलन का जन्म 15 मार्च 1932 में व्हीलर, अमेरिका में हुआ। अपोलो-12 मिशन के अलावा वह वर्ष 1973 में स्काईलैब 3 मिशन के तहत उन्होनें अंतरिक्ष की दूसरी उड़ान भरी थी। वह 1963 के एस्ट्रोनाॅट ग्रुप 3 के लिए अतंरिक्ष यात्री के तौर पर चुने गये थे। नासा ने उन्हे वर्ष 1981 में रिटायर कर दिया था। उनकी मृत्यु 26 मई 2018 को 86 वर्ष की आयु में हाॅस्टन, अमेरिका में हुई।

5. एलन शेपर्ड (Alan Shepard)

18 नवंबर 1923 को न्यू हैंपशायर, अमेरिका में जन्में एलन शेपर्ड विश्व के पाँचवे ऐसे व्यक्ति है जिन्होनें चँन्द्रमा पर अपने कदम रखे। एलन 1971 के नासा के अपोलो 14 मिशन में शामिल थे, इस मिशन के दौरान उन्होंने चांद की सतह पर दो गोल्फ गेंदों को मारा। वह मर्करी रेडस्टोन 3 अंतरिक्ष मिशन का भी हिस्सा रहे थे। इसके कुछ समय बाद, वर्ष 1974 में नासा एलन नासा से रिटायर्ड हो गये, तब उन्होनें बैकिंग तथा रियल स्टेट में भी कार्य किया। 74 वर्ष की आयु में 21 जुलाई 1988 को इनका निधन कैलिफोर्निया में हुआ।

6. एडगर मिशेल (Edgar Mitchell)

एडगर मिशेल चाँद पर कदम रखने वाले दुनियाँ के छठे शख्स हैं, यह कारनामा उन्होने नासा के अपोलो 14 मिशन के तहत किया, जिसमें वह एलन शेपर्ड के साथ थे। एडगर एक सफल राज्य नौसेना अधिकारी, एविएटर, वैमानिकी इंजीनियर, यूफोलाॅजिस्ट थे। अपोलो 14 के लूनर मॉड्यूल पायलट के रूप में, उन्होंने फ्रा मौरो हाइलैंड्स क्षेत्र में चाँद की सतह पर काम करते हुए लगभग नौ घंटे बिताए।

हालाँकि, इस मिशन के पूरा होने के अगले वर्ष (1972) ही उन्होने नासा को छोड़ दिया। इसके बाद उन्होने ईएसपी और मानसिक घटनाओं की रिसर्च करने वाली कंपनियों में कार्य किया। 17 सितम्बर 1930 को अमेरिका के टेक्साॅस में जन्में एडगर मिशेल का निधन 85 वर्ष की आयु में 4 जुलाई 2016 को फ्लोरिडा में हुआ।

7. डेविड स्कॉट (David Scott)

90 वर्षीय डेविड स्काॅट का जन्म अमेरिका के टेक्साॅस में 6 जून 1932 को हुआ। वह नासा के वर्ष 1971 के अपोलो 15 मिशन के कमांडर थे, इस प्रकार, वह चाँद पर कदम रखने वाले दुनियाँ के सातवे व्यक्ति बनें। वह नासा से परीक्षण पायलट और एक अंतरिक्ष यात्री के तौर पर जुड़े थे। स्काॅट ने अतंरिक्ष की सबसे पहली यात्रा जीमनी 8 मिशन से की थी, कुल तीन बार वह अंतरिक्ष की यात्रा में जा चुके हैं। वर्ष 1977 में वह नासा से रिटायर हो गये जिसके बाद वह लेखक के तौर पर कार्य करने लगे।

8. जेम्स इरविन (James Irwin)

जेम्स बेन्सन इरविन एक वायु सेना पायलट, परीक्षण पायलट, वैमानिकी इंजीनियर, और अंतरिक्ष यात्री थे। इनका जन्म 17 मार्च 1930 को अमेरिका के पिट्सबुर्ग नामक स्थान पर हुआ था। वह नासा के अपोलो 15 मिशन के लूनर माड्यूल पायलट थे और चाँद पर कदम रखने वाले आठवें व्यक्ति थे। 31 जुलाई 1972 में वह नासा से रिटायर हुए और उनका निधन 8 अगस्त 1991 में 61 वर्ष की आयु में कोलेराडो में हुआ।

9. जॉन यंग (John Young)

चाँद पर कदम रखने वाले दुनियाँ के नौवे व्यक्ति जान यंग नासा के वर्ष 1972 के अपोलो 16 मिशन के कमांडर थे। वह देश के परीक्षण पायलट, वैमानिकी इंजीनियर, और नौसेना अधिकारी थे और इनका जन्म 24 सितंबर 1930 को सैन फ्रान्सिसको, अमेरिका में हुआ था। अपोलो 16 के अलावा वह अपोलो 10, एसटीएस-1, जीमनी 3, जीमनी 10 और एसटीएस 9 अंतरिक्ष मिशन का हिस्सा रहे। जाॅन ने 6 बार अतंरिक्ष की यात्रा की है जो कि एक विश्व रिकार्ड है। 5 जनवरी 2018 को 87 वर्ष की आयु में निमोनिया के कारण उनकी मृत्यु हाॅस्टन, अमेरिका में हुई।

10. चार्ल्स ड्यूक (Charles Duke)

अमेरिकी वायु सेना में कार्यरत चार्ल्स ड्यूक जूनियर वर्ष 1972 के अपोलो 16 अंतरिक्ष मिशन का हिस्सा थे। वह चाँद पर कदम रखने वाले दुनियाँ के दसवें व्यक्ति थे। इनका जन्म 3 अक्टूबर 1935 को नार्थ कैरोलीना, अमेरिका में हुआ। जब भी बात की जाएगी कि Chand Par Kon Kon Gaya Hai तो चार्ल्स ड्यूक जूनियर के अहम योगदान को सराहा जाएगा क्योंकि अपोलो 16 से पहले उन्होने अपोलो 11 में काफी काम किया, इसके लिए उन्होंने कैपकाॅम (कैप्सूल कम्युनिकेटर) के रूप में सेवाएं दी थी।

11. यूजीन सेरनन (Eugene Cernan)

वर्ष 1972 के अपोलो 17 मिशन में हिस्सा रहे यूजीन सेरनन चाँद पर कदम रखने वाले दुनियाँ के 11वें व्यक्ति है। वह एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर, वैमानिकी इंजीनियर, लड़ाकू पायलट, और अंतरिक्ष यात्री थे। अपोलो 17 मिशन कें चंद्र माड्यूल पायलट रहे यूजीन का जन्म 14 मार्च 1934 को शिकागो, अमेरिका में हुआ था। नासा में कार्य करने के दौरान वह चंद्र मिशन का हिस्सा रहे, वर्ष 1976 में वह रिटायर्ड हो गये। जिसके बाद उन्होनें कुछ एक प्राइवेट कंपनियों में कार्य किया। वह अपोलो 10, जीमनी 9A मिशन में भी शामिल थे। 16 जनवरी 2017 को इनका निधन अमेरिका के टेक्साॅस प्रांत में हुआ।

12. हैरिसन श्मिट (Harrison Schmitt)

हैरिसन हैगन श्मिट चाँद पर कदम रखने वाले दुनियाँ के 12वें व्यक्ति हैं। वह एक भूविज्ञान, अंतरिक्ष यात्री, प्रोफेसर और न्यू मैक्सिकों से यू. एस. सीनेटर हैं जो कि वर्ष 1972 के अपोलो 17 मिशन का हिस्सा थे और उस मिशन में यूजीन सेरनन के साथी थे। इनका जन्म 3 जुलाई 1935 को सेंटा रीटा, अमेरिका में हुआ था। वर्ष 1975 में नासा से रिटायर होने के बाद इन्होनें कुछ प्रख्यात विश्वविद्यालयों में पढाया भी है। यह एक मात्र ऐसे चंद्रयात्री है जो मिलेट्री या विमानन क्षेत्र से सम्बन्धित नही है।

Conclusion

आशा करता हूँ Chand Par Kon Kon Gaya Hai विषय पर यह लेख आपको काफी पसंद आया होगा। इस तरह की जानकारी प्रतियोगी परीक्षाओं, डिबेट, भाषण, सभा आदि में आपके काम आ सकती है। अगर आपको लगता है कि आपके परिचय का कोई व्यक्ति नही जानता कि अबतक चांद पर कौन-कौन गया है तो उसके साथ यह रोचक पोस्ट जरूर शेयर करें। किसी प्रकार के सवाल, सुझाव, प्रतिक्रिया कमेंट बाॅक्स में लिखे, हम जरूर रिप्लाई करेंगे।

Chand Par Kon Kon Gaya Hai: FAQs

Chand Par Kon Kon Gaya hai?

चांद पर अबतक 12 लोग जा चुके है जो सभी अमेरिका के निवासी हैं। अगर आप नहीं जानते अबतक Chand Par Kon Kon Gaya Hai तो इनके नाम और डिटेल जानकारी इस लेख से पढ़ें।

चाँद पर जाने वाली पहली भारतीय पुरुष कौन थी?

चाँद पर अभी तक कोई भी भारतीय व्यक्ति नही गया है, हालाँकि, राकेश शर्मा पहले भारतीय पुरूष है जों अतंरिक्ष में 7 दिन रहकर आये हैं।

चांद पर जाने वाली भारतीय महिला कौन थी?

चांद पर कोई भी भारतीय महिला अभी तक नही पहुँची है। हालाँकि, कल्पना चावला एक ऐसी भारतीय है जो अंतरिक्ष जा चुकी है, पर अंतरिक्ष से वापसी के दौरान उनका विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ जिसमें उनकी मृत्यु हो गयी थी।

गूगल चांद पर जाने में कितना दिन लगता है?

धरती से चंद्रमा की दूरी 240,000 मील (386,243 किलोमीटर) है और अबतक के चांद मिशनों को चांद पर पहुचने में लगभग तीन दिन का समय लगा।

चांद पर सबसे पहले कौन गया है

चांद पर सबसे पहले अमेरिकी मूल के अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग ने कदम रखा, वे नासा के अपोलो मिशन 11 के तहत चाँद पर पहुचे थे। चांद पर सबसे पहले कौ गया ये तो लगभग सभी लोग जानते हैं पर क्या आपको पता है कि अबतक Chand Par Kon Kon Gaya Hai। डिटेल जानकारी के लिए लेख पढ़ें।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published.