Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai | गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है?

आपने Goldfish को तो देखा या उसके बारे में सुना ही होगा। आज इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं Goldfish के बारे में।  यहाँ आपको गोल्डफिश के बारे में कई चीज़ें जानने को मिलेगी जैसे की Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai, इनके प्रकार, ये क्या खाती हैं, कहाँ रहती हैं और भी बहुत कुछ।  वैसे तो goldfish एक छोटा सा जानवर हैं जिसे लोग अपने घरो, offices, में रखते हैं।  लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इस छोटे से जीव के बारे में जानने को कितना कुछ हो सकता हैं। हमे भी नहीं पता था। 

पर जब हमने इसके बारे में research किया तो हम एहसास हुआ की ये छोटा सा जानवर सिर्फ एक सजावट की चीज़ के अलावा भी कितना शानदार हैं। इस पर कई तरह की Studies की गयी है साथ ही गोल्डफिश पर आधारित प्रश्न कई एक्जाम का हिस्सा रहे हैं जैसे गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है?, गोल्डफिश क्या है इत्यादि। तो आइये जाने इस छोटे से  जीव की बड़ी कहानी, जो काफी रोचक है।

Table of Contents

गोल्डफिश क्या है? Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai?

goldfish ka scientific naam Kya hai

Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai?– गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) है। ये मछली Cyprinidae या फिर Carp फैमिली की हैं। इस प्रजाति की मछलियाँ अधिकतर सुनहरे या संतरी रंग की होती हैं। ये कई रंगो में होती हैं और देखने में बहुत सुन्दर लगती हैं। गोल्डफिश मीठे पानी में रहती हैं और लोग इन्हे अधिकतर घर, ऑफिस इत्यादि जगहों में बने एक्वेरियम में रखते हैं। ऐसे कई संस्कृतिया हैं जहाँ गोल्डफिश को सौभाग्यशाली माना जाता हैं। 

जैसे यूरोप में ऐसे कुछ हिस्से हैं जहाँ शादी की पहली एनिवर्सरी पर पति अपनी पत्नी तो तोहफे में गोल्डफिश देते हैं।  ऐसा माना जाता हैं की ऐसा करने पर उनका जीवन खुशहाल रहेगा। Goldfish आज से लगभग 17 वर्ष पहले चीन में पाई गई थी। ये मछली अपनी बनावट और रंगो की वजह से पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है।

Goldfish का जीवनकाल एवं अनुकूल परिस्थितियाँ

Goldfish का जीवनकाल

अगर परिस्तिथियाँ favorable हो तो गोल्डफिश 40 वर्षों तक भी जीवित रह सकती है। पालतू गोल्डफिश कम से कम 6 से 8 साल तक ज़िंदा रहा सकती हैं । इन्हे लम्बे समय तक जीवित रखने के लिए आपको ये पता होना चाहिए की इनके रहने के लिए अनुकूल परिस्तिथियाँ क्या हैं और उनके पानी का temperature कितना होना चाहिए। 

आगे की जानकारी के लिए हम आपको बता देते हैं कि आपके यहाँ गोल्डफिश के एक्वेरियम के पानी का तापमान करीब 20 डिग्री से 24 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए। हालाँकि, कई बार गोल्डफिश 30 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान वाले पानी में भी रह सकती हैं। इसी के साथ पानी का pH लेवल भी 7.2 से 7.6 के बीच रहेगा तो ये आपकी गोल्डफिश के लिए अच्छा होगा और आपकी मछली लम्बे समय तक आपके साथ रहेगी।

Goldfish कैसी जगह पाई जाती है?

Goldfish कैसी जगह पाई जाती है?

जयादातर गोल्डफिश चीन के तालाबों में देखी जा सकती हैं। ये उन तालाबों में पायी जाती हैं जहाँ पानी का प्रवाह कम होता हैं। इनकी शुरुआत सबसे पहले 17वीं सदी में यूरोप में हुई थी। ये मछली सुनहरी होती हैं और धीरे-धीरे चलती हैं ये मीठे पानी में रहती हैं और हल्के कीचड़ जैसे पानी में पनपती हैं। 

जिन मछलीघरों में आप इन मछलियों को रखते हैं अगर आप उसका पानी हर २ हफ़्तों में बदले तो अच्छा रहेगा। अगर पानी के तापमान में बहुत जयादा बदलाव होता हैं तो ये इन मछलियों की जान के लिए खतरा भी हो सकता हैं। 

गोल्ड फिश की शारीरिक बनावट

गोल्ड फिश की शारीरिक बना

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है की जानकारी देने के बाद अब बात करते है इसके शरीर की बनावट की। Goldfish मछली की कई तरह की किस्मे पाई जाती है। इनके कई रंग होते हैं और अनेक विशेषताएं होती है। आम तौर पर गोल्डफिश के शरीर में 5 fins के सेट होते हैं। ये हैं Pelvic, Pectoral, Dorsal, Caudual, और Anal। Dorsal Fin गोल्डफिश को बैलेंस बनाने में मदद करता हैं। Caudual Fin इस मछली को आगे बढ़ने में मदद करता हैं।  Anal Fin गोल्डफिश को सीधा रहने में मदद करता हैं।  Pelvic Fins भी गोल्डफिश को स्टेबल रहने और direction बदलने में मदद करते हैं। Pectoral fins भी मछली को इधर उधर side में बढ़ने में मदद करते हैं। 

इसके अलावा गोल्डफिश की आँखें बड़ी होती हैं और इनके सूंघने और सुनने की शक्ति तेज होती हैं। इनके दांत मुँह में होने के बजाये गले में होते हैं जिससे ये भोजन को कुचलती हैं। इनका वजन लगभग वैसे तो 3 kg होता है, पर ये 4.5 kg तक भी जा सकता हैं।  

Goldfish की लंबाई 45 सेंटीमीटर तक हो सकती है। गोल्डफिश कई तरह के रंग जैसे की लाल, काला, नारंगी, नीला, सफेद, बैंगनी, इत्यादि के मिश्रण में पाई जाती हैं और ये देखने में बहुत ही सुन्दर लगती हैं। 

Goldfish को भोजन कब देना चाहिए

अगर आप एक पालतू गोल्डफिश रखना चाहते हैं तो आपको मछली को कब और कितना खाना देना है, इसकी जानकारी रखना बहुत ही महत्वपूर्ण है। इन मछलियों को जितनी आवश्यकता हैं उससे ज्यादा भी ना दे और कम भी ना दे।  दोनों ही परिस्तिथियों में ये  ज्यादा समय तक जीवित नहीं रह पाएगी। आपको ये भी बता दे की आपकी पालतू सुनहरी मछली लगभग 2 हफ्ते तक बिना खाये रह सकती है।  लेकिन बहुत लम्बे समय तक इन्हे भूखा ना रखे। अगर आप कुछ दिनों तक बाहर जा रहे है और अपनी गोल्डफिश को अपने साथ नहीं ले जा सकते, तो अपनी गोल्डफिश को अकेले ना छोड़े।  उन्हें किसी की देख रेख में ही रखे।  

Goldfish क्या खाती है?

घरों के रहने वाली गोल्डफिश तो लोग अधिकतर मार्केट में मिलने वाला फिश फ़ूड ही खिलाते हैं। ये मछलियां वेजीटेरियन और नॉन-वेजीटेरियन, दोनों खाने खा सकती हैं। घर से बाहर तालाबों में रहने वाली ये मछलियां आम तौर पर पानी में होने वाली पौधे, कीड़े, मेढक का tadpole, इत्यादि खाती हैं। पालतू गोल्डफिश को आप हरी सब्जियां जैसे की पालक, गाजर, मटर आदि खिला सकते हैं। ये फल भी खाती है जैसे की सेब, संतरा, केला आदि। आप उन्हें थोड़ा थोड़ा भोजन ही दे और दिन में केवल दो बार।  ज्यादा खाना इनकी आंतों में समस्या कर सकता हैं और वे मर भी सकती हैं ।

क्या गोल्डफिश बुद्धिमान होती हैं?

गोल्डफिश की मेमोरी कम से कम तीन महीने की होती है।  ये अलग अलग रंगो, आवाज़ों, और आकारों में फर्क कर सकती हैं। वे खाने के रंगो के प्रति भी प्रतिक्रिया देती हैं। अगर आप रोज़ उन्हें भोजन एक ही समय पर देते हैं तो वे उस समय का पूर्वानुमान लगाना भी सीख जाती हैं। आप इन्हे करतब करवाना भी सीखा सकते हैं बशर्ते आप जानते हो आपको क्या और कैसे करना हैं। 

GoldFish प्रजनन कब करती है?

सुनहरी मछलियां पर्याप्त पानी और सही पोषण के साथ प्रजनन कर सकती हैं । ज्यादातर गोल्डफिश कैद में अंडे देती है।  अगर अपने घर में भी आप तालाब जैसी व्यवस्था अच्छी से रख सकते हैं तो ये मछलियां आपके घर में भी प्रजनन कर सकती हैं। इनका प्रजनन प्रायः वसंत ऋतु में होता है । 

इसमें नर गोल्डफिश मादा गोल्डफिश का पीछा करते हैं और उन्हें धक्का मारकर उन्हें अंडे release करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

गोल्डफिश के अंडो में चेप होता हाँ जिससे ये पानी में मौजूद घने पौधों से चिपक जाते हैं। अगर गोल्डफिश आपके घर में अंडे देती हैं तो उन अंडो को मछली के टैंक से हटा दे और किसी और सुरक्षित स्थान पर रखे।  ऐसा इसलिये क्यूंकि ये अंडे दो से तीन दिन के अंदर फूट जाते हैं और बड़ी गोल्डफिश छोटी गोल्डफिश (बच्चों) को खा जाती हैं।  

अंडे से निकले बच्चे आकर में बहुत ही छोटे होते हैं और लगभग एक सप्ताह में उनके पुरे आकर का विकास होने लगता हैं। लेकिन उनके शरीर पर सुनहरे रंग का पूरी तरह विकास होने में एक साल लग सकता हैं।  इनके जीवन के पहले सप्ताह में इन्हे बड़ी मछलियों द्वारा निगलने का बहुत खतरा रहता हैं। 

Goldfish का बिहेवियर 

सुनहरी मछली हिंसक या आक्रामक नहीं होती है।इनके साथ टैंक में अगर दूसरे जीव भी है तो ये उनके साथ रहकर भी सीखती है।  लेकिन  अगर दूसरी मछलियाँ गोल्डफिश से अत्यधिक भिन्न हैं उन्हें साथ नहीं रखना चाहिए।

Goldfish को पालने के लिए कुछ टिप्स 

अगर आप goldfish को पालना चाहते हैं तो आपको कुछ जरुरी बातों का ध्यान रखना होगा ताकि गोल्डफिश आपके साथ एक अच्छा और लम्बा समय बिताये 

  • goldfish को 26 डिग्री सेल्सियस तक के पानी में रखे। टैंक को ऐसी जगह पर रखे जहाँ पानी temperature moderate रहे और ज्यादा तेज़ ना हो।
  • आपको इनके खाने पीने का ध्यान रखना होगा। उन्हें सही खाना सही समय पर देना होगा ताकि इन्हे कोई परेशानी ना हो।
  • सर्दियों में इन मछलियों का विशेष ध्यान रखने की जरुरत क्यूंकि इस समय पानी का तापमान बहुत ज्यादा गिर सकता हैं और ये मछलियां मर सकती हैं।
  • जब आप गोल्डफिश पालते है तो आपको इनका पूरा ध्यान रखने की जरुरत होती हैं। अगर आपको लगे की आपकी मछली कुछ अलग सा व्यवहार कर रही है तो हो सकता है की वो बीमार हो। इसलिए ये अच्छा होगा की आप उन्हें तुरंत किसी अच्छे स्पेशलिस्ट को दिखाए।

एक्वेरियम की साफ सफाई 

गोल्डफिश की देखभाल करते वक़्त ये भी ध्यान रखे की आप उनका एक्वेरियम भी समय समय पर साफ़ करते रहे। इससे आपकी गोल्डफिश स्वस्थ रहेगी और ज्यादा समय तक जीवित रहेगी। एक्वेरियम की सफाई हफ्ते में एक बार तो अवश्य करे। पानी की सफाई करते वक़्त पूरा पानी बदलने की जगह 10% से 15% पानी ही बदले। एक्वेरियम में आप पौधे भी लगाए। इसके साथ दूसरी और  भी चीज़ें रख सकते हैं।  इसकी जानकारी आपको किसी फिश शॉप से मिल जाएगी। 

Goldfish कितने प्रकार की होती हैं?

आपने ये तो जान लिया goldfish ka scientific naam kya hai, अब ये जान कीजिये ये कितने प्रकार की होती हैं।  

अगर आपको लगता हैं की गोल्डफिश सिर्फ एक ही टाइप की होती हैं तो आपको ये जानकार जरूर आश्चर्य होगा की goldfish कई प्रकार की होती हैं। goldfish की कई प्रजातियाँ हैं और यह कई तरह की होती हैं। चलिए अब हम आपको इसकी कुछ प्रजातियों के बारे में बताते हैं।

1. Common Goldfish

Goldfish कितने प्रकार की होती हैं ? | Common Goldfish

यह मछली भारत और चीन में पाई जाती है। भारत में आप इसे महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में देख सकते हैं। लोग सबसे ज्यादा इसी गोल्डफिश को अपने एक्वेरियम में रखते हैं। क्या आपको पता है काॅमन गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? Common Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

2. Shubunkins Goldfish

Shubunkins Goldfish 

ये जापानी गोल्डफिश सुन्दर होती हैं और इनके nacreous scales के साथ एक पूंछ होती हैं और शरीर पर कैलिको नाम की आकृति होती है ।ये कॉमन गोलोड़फिश जैसी ही नज़र आती हैं। अगर आप नहीं जानते Shubunkins goldfish ka scientific naam kya hai? तो हम आपको बता दें Shubunkins Goldfish का साइंटिफिक नाम भी कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

3. Comet Goldfish

Comet Goldfish

इस goldfish की पूँछ धूमकेतु जैसी होती हैं इसलिए इन्हे कॉमेट गोल्डफिश कहा जाता हैं। ये प्रजाति ज्यादातर अमेरिका में पाई जाती है। इस मछली का size छोटा होता हैं और ये पतली होती है। इनके शरीर पर कई रंगों का मेल होता हैं। अब अगर आप सोच रहे हैं कि Comet goldfish ka scientific naam kya hai? तो जान लीजिए कि Comet Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

4. Ranchu Goldfish

Ranchu Goldfish

ये जापानी गोल्डफिश के रैनचु हुड होता हैं। जापान में इसे “सुनहरी मछलियों के रजा” के नाम से भी जाना जाता हैं। जब आपको पता चलेगा Ranchu गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? आपको हैरानी होगी कि Ranchu Goldfish का साइंटिफिक नाम भी कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

5. Ryukin Goldfish

 Ryukin Goldfish

इस सुन्दर और सजावटी मछली का शरीर साइज में छोटा होता हैं और इसका रंग गहरा होता है। इसके कंधे पर जो उभर वाली डिज़ाइन है वो इसके आकर्षण का केंद्र हैं। Ryukin भी गोल्डफिश फैमिली की है इस goldfish ka scientific naam kya hai? आपको जानना चाहिए। Ryukin Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) है।

6. Telescope Goldfish

Telescope Goldfish

इस मछली की आँखे बाहर की तरफ उभरी हुई होती हैं जो इसकी ख़ास विशेषता हैं। सबसे पहले इनको early 1700s में चीन में develop किया गया था। ये गहरे रंग की होती हैं और इनकी साइज काफी बड़ी हो सकती हैं। अब अगर प्रश्न यह है कि Telescope गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? तो जान लीजिए Telescope Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

7. Black Telescope Goldfish

 Black Telescope goldfish

इस मछली  की आखें दूरबीन जैसी होती हैं।  चीन में ये मछली ड्रैगन आई गोल्डफिश के नाम से मशहूर हैं। इस मछली का रंग काला होता हैं और इसके कुछ हिस्से में सुनहरा रंग दिखाई देता हैं जो इससे बहुत ही आकर्षक बनता हैं। Black Telescope type की goldfish ka scientific naam kya hai? Black Telescope Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

8. Bubble Eye Goldfish

Bubble Eye goldfish

इस मछली की आँखें देखने में बुलबुले की तरह दिखाई देती हैं और बड़ी बड़ी होती हैं जैसे की वो आपको कुछ कह रही हो। ये साइज में छोटी होती हैं और इसे फैंसी मछली भी कहा जाता है। इस मछली की पीठ साफ़ होती हैं और ये देखने में खूबसूरत होती हैं। एक्जाम्स में पूछा जा सकता है Bubble Eye गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? तो उसके लिए आपका जवाब इस तरह होना चाहिए- Bubble Eye Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है। 

9. Celestial Goldfish

 Celestial goldfish

इस सुनहरी रंग वाली गोल्डफिश की आंखों की पुतलियां बड़ी होती है और फुली हुई लगती हैं। इसकी आँखें देखने पर ऐसा लगता है की ये ऊपर की तरफ देख रही हैं। इस मछली के दो पूँछ होती हैं। अगर आप जलीय जन्तुओं के बारे में नही जानते जैसे Celestial goldfish ka scientific naam kya hai? तो हम आपको बता दें Celestial Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

10. Fantail Goldfish

Fantail goldfish

इस मछली के पंख जैसी लंबी पूंछ होती है। इसका शरीर छोटा होता हैं और अंडे के आकर का दिखाई देता हैं। ये देखने में बहुत ही सुंदर लगती है। इसकी पीठ पर लंबे पंख होते हैं और ये अधिकतर पश्चिमी देशों में देखी जाती हैं। अगर आप Fantail गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? नहीं जानते तो आपकी जानकारी को बता दें Fantail Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

11. Lionhead Goldfish

Lionhead goldfish

Lionhead goldfish का सिर शेर के मस्तिष्क जैसा दिखता हैं। इसका गला मोटा होता हैं और इसकी पीठ धनुष जैसी प्रतीत होती हैं। इसके पीठ पर पंख नहीं होते हैं। अधिकतर लोग नही जानते होंगे कि Lionhead goldfish ka scientific naam kya hai? उनकी जानकारी के लिए बता दें, Lionhead Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

12. Oranda Goldfish

 Oranda goldfish

इस गोल्डफिश के सिर पर एक बबल के आकर का हुड होता हैं जिसे ताज भी कहा जाता हैं। इसका शरीर लम्बा और बड़ा होता हैं। इस सजावटी मछली को कई रंगो में देखा जा सकता हैं और इसकी पूँछ भी बड़ी होती हैं। क्या यह जानकारी रखते है कि Oranda गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? अगर नहीं, तो हम बता देते हैं Oranda Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

13. Pearlscale Goldfish

 Pearlscale goldfish

Pearlscale goldfish बहुत ही सुंदर मछली है। और इनके स्केल्स मोतियों जैसे प्रतीत होते हैं। इसे जापान में चीन शुरीन भी कहा जाता है। इसका शरीर गोल्फ बॉल जैसे आकर का होता हैं। इसकी लम्बाई 8 इंच तक हो सकती हैं और इसका साइज एक संतरे जितना भी हो सकता हैं। शायद आपको न पता हो कि Pearlscale goldfish ka scientific naam kya hai? इसलिए हम बताते चलें Pearlscale Goldfish का साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस (Carassius Aauratus) ही है।

गोल्डफिश से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • पूरी दुनिया में हर वर्ष लगभग 480 मिलियन गोल्डफिश बेची जाती है। लेकिन बहुत कम लोगों को पता होता है कि गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है?
  • दुनिया में गोल्डफिश के करीब 300 प्रकार है। इनका रंग, पंख, पूँछ, आंखें, पूंछ, शरीर आदि इनको एक दूसरे से अलग बनती हैं।
  • गोल्डफिश अलग अलग लोगों के चेहरे को पहचान लेती हैं और ये अलग अलग रंग, आकार और आवाज़ों में भी फर्क कर लेती हैं।
  • रिसर्च के अनुसार गोल्डफिश UV Rays को देख सकती है।
  • गोल्डफिश के मुँह में दांत नहीं होते। ये उनके गले के पीछे की तरफ होते हैं ।
  • गोल्डफिश कभी अपनी आंखें बंद नहीं करती क्यूंकि उनकी पलकें नहीं होती।
  • ये आँखें खुली रख कर ही सोती हैं।

ये भी पढ़े – हिंदी में निबंध

निष्कर्ष

इस Goldfish ka Scientific Naam Kya Hai, आर्टिकल में हमने आपको goldfish मछली के बारे में जितना हो सके उतनी जानकारी देने की कोशिश की हैं।  अगर आप इन्हे पालना चाहते हैं तो ये इंसानो द्वारा पाले जाने वाले सबसे पालतू जानवरों में से एक हैं।  इनके कई प्रकार होते हैं और ये सभी प्रकार बहुत ही रोचक और सुन्दर होते हैं।  लेकिन अगर आप इनको पालना चाहते हैं तो इनका ध्यान भी बहुत रखना होगा। 

हम उम्मीद करते है कि आपको हमारा ये गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है आर्टिकल पसंद आया होगा। वैसे तो ये आर्टिकल आपको goldfish के बारे में जानकारी देने के लिए हैं। फिर भी एक goldfish को अपने घर में लाने से पहले बेहतर होगा की आप एक एक्सपर्ट की सलाह जरूर ले। इससे आपको और अच्छे से समझ आएगा आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। 


Goldfish ka Scientific Naam Kya Hai: FAQs

गोल्डफिश का हिन्दी में क्या नाम है?

गोल्डफिश को हिन्दी में सुनहरी मछली कहाँ जाता है। इसके शरीर का रंग बहुत ही आकर्षक होता है और लोग इसे पालने के लिए खरीदते हैं।

सुनहरीमछली कहां के मूल निवासी हैं?

सुनहरीमछली पूर्वी एशिया (East Asia) की मूल निवासी है, जो अन्य कई और जगहों पर भी पायी जाती है।

मछली का भोजन क्या है?

मछलियाँ शकाहारी, माँसाहारी, और सर्वाहारी तीनों तरह की होती है। गोल्डफिश सर्वाहारी होती है। इसे आप मार्केट में मिलने वाले फिश फूड खिला सकते हैं साथ ही गाजर, मूली, पालक, चुकन्दर जैसी सब्जियाँ भी ये खाती हैं।

दुनिया में सबसे सुंदर मछली कौन सी है?

मैंडेरिनफिश, क्लाउन ट्रिगर फिश, जुवेनाइल एंपरर एंजेल फिश, न्यूडीब्रांच आदि दुनिया की सबसे सुंदर मछलियों में शुमार हैं।

सबसे समझदार मछली कौन सी होती है?

सबसे समझदार मछली डाल्फिन को माना जाता है। यह मछली खुद को दर्पण में भी पहचान सकती है और इंसानो से 10 गुना ज्यादा सुन सकती है। डाल्फिन की याद्दाश्त सबसे अच्छी होती है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 4.6 / 5. Vote count: 78

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published.