CryptoCurrency Kya Hai | Top 10 CryptoCurrency क्या है और इसे कैसे Buy करे

आजकल Financial Market में एक शब्द CryptoCurrency का बहुतायत में प्रयोग हो रहा है । क्रिप्टो करेंसी क्या है के बारे में न जानना Financial Literacy कहा जायेगा इसलिए हम चाहते हैं कि इस विषय को आप अच्छे से जानें और दूसरों को भी इस बारे में बताएं तो आइये जानते हैं CryptoCurrency Kya Hai

क्रिप्टो करेंसी क्या है – Cryptocurrency Kya Hai

Cryptocurrency kya hai | क्रिप्टो करेंसी क्या है

जिस प्रकार भारत में Rupees, USA में Dollar, Europe में Euro जैसे  Currency को  वहां की सरकारें अपने देश में लागू करती हैं और इस्तेमाल में लातीं है, ठीक वैसे ही CryptoCurrency को भी पूरे दुनिया में इस्तेमाल में लाया जाता है । दोनों में अंतर केवल यह है एक physical Currency है तो दूसरा virtual Currency ।

क्रिप्टोकरेंसी को digital money भी कहा जा सकता है क्योंकि यह केवल Online ही उपलब्ध होता है और हम इसका physically लेन देन नहीं कर सकते । आइये “क्रिप्टो करेंसी क्या है” और विस्‍तार से समझें:

What Is Cryptocurrency In Hindi

Cryptocurrency भी एक प्रकार से currency ही होता है, यह एक तरह का Digital Asset होता है जिसका उपयोग खरीदारी या Services के लिए किया जाता है । अंतर केवल इतना ही है Cryptocurrency का physical existence नहीं होता यह केवल  virtual होता है इसलिए इसे digital currency भी कहा जाता है ।

क्रिप्टोकरेंसी एक Peer to Peer Electronic System होता है जिसका प्रयोग हम Internet के माध्यम से regular currencies के जगह में Goods और Services को purchase करने में कर सकते हैं ।

आसान भाषा में कहें तो क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) एक डिजिटल कैश (Digital Money) प्रणाली है, जो कम्प्यूटर एल्गोरिदम पर बनी है. यह सिर्फ डिजिट के रूप में ऑनलाइन रहती है. इस पर किसी भी देश या सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है ।

Regular currencies और Cryptocurrency में अंतर-

  1. Regular currencies  किसी देश द्वारा मान्‍य और उसके नियंत्रण में होती है जबकि Cryptocurrency किसी भी सरकार नियंत्रण में नहीं आती ।
  2. Regular currencies  एक भौतिक स्वरूप होता है जिसे हम देख सकते हैं, स्पर्श कर सकते हैं जबकि Cryptocurrency भौतिक रूप न होकर केवल आभासी रूप में होता है ।
  3. Online और offline  mode में Regular currencies का प्रयोग किया जा सकता है जबकि Cryptocurrency का प्रयोग केवल Online mode में किया जा सकता है ।
  4. सरकारे और बैंके के नियंत्रण Regular currencies का प्रयोगमें होता है जबकि Cryptocurrency का प्रयोग पर किसी एजेंसीस का नियंत्रण नहीं होता ।

Cryptocurrency का इतिहास

Cryptocurrency का इतिहास | History of Cryptocurrency

पहली विकेन्द्रीकृत क्रिप्टोक्यूरेंसी, बिटकॉइन, 2009 में डेवलपर Satoshi Nakamoto द्वारा बनाया गया था। इसने अपने प्रमाण-कार्य योजना में SHA-256, एक क्रिप्टोग्राफ़िक हैश फ़ंक्शन का उपयोग किया। अप्रैल 2011 में, नामेकोइन को विकेंद्रीकृत डीएनएस बनाने के प्रयास के रूप में बनाया गया था, इसके तुरंत बाद, अक्टूबर 2011 में, Litecoin को रिलीज़ किया गया। यह SHA-256 के बजाय अपने हैश फ़ंक्शन के रूप में उपयोग किया गया। एक अन्य उल्लेखनीय क्रिप्टोक्यूरेंसी, Peercoin ने प्रूफ-ऑफ-वर्क / प्रूफ-ऑफ-स्टेक हाइब्रिड का इस्तेमाल किया।

Cryptocurrency कैसे काम करती है?

क्रिप्टो करेंसी क्या है ? (What Is Cryptocurrency In Hindi) उम्‍मीद है अब तक आप समझ गए होंगे । अब यह समझते हैं कि यह काम कैसे करता है ।

Cryptocurrency ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारिक एक वर्चुअल करेंसी है जो क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित है । यह सारा काम पावरफुल कंप्यूटर्स के जरिए होता है । यह माना जाता है कि इसके कोड को कॉपी करना लगभग नामुमकिन है । 

ये डिजिटल मुद्रा इनक्रिप्टेड यानी कोडेड होती हैं।  इसे एक डिसेंट्रेलाइज्ड सिस्टम के जरिए मैनेज किया जाता है। इसमें प्रत्येक लेन-देन का डिजिटल सिग्नेचर द्वारा वेरिफिकेशन होता है । क्रिप्टोग्राफी की मदद से इसका रिकॉर्ड रखा जाता है । 

इसके जरिए खरीदी को क्रिप्टो माइनिंग (Cryptocurrency Mininig) कहा जाता है क्योंकि हर जानकारी का डिजिटल रूप से डेटाबेस तैयार करना पड़ता है । जिनके द्वारा यह माइनिंग की जाती है, उन्हें माइनर्स कहा जाता है ।

क्रिप्टोकरेंसी का लेन-देन  कैसे होता है?

cryptocurrency in hindi | क्रिप्टोकरेंसी का लेन-देन  कैसे होता है?
  1. cryptocurrency में जब भी कोई transaction होता है तो इसकी जानकारी blockchain में दर्ज की जाती है, यानी उसे एक block में रखा जाता है. इस ब्लॉक की security और encryption का काम माइनर्स का होता है । इसके लिए वे एक  Cryptographic पहेली को हल कर ब्लॉक के लिए उचित Hash (एक कोड) खोजते हैं ।
  2. जब कोई माइनर ठोस hash खोजकर ब्लॉक सिक्योर कर देता है तो उसे ब्लॉकचेन से जोड़ दिया जाता है और नेटवर्क में दूसरे नोड  के जरिए उसे वेरिफाई किया जाता है । इस प्रक्रिया को consensus कहा जाता है ।
  3. consensus होने का मतलब सिक्योर होने की पुष्टि होना होता है । फिर  सिक्योर करने वाले माइनर को क्रिप्टोक्वॉइन (cryptocoin) दे दिए जाते हैं । 

क्रिप्टो करेंसी कैसे खरीदें (How To Buy Cryptocurrency) ?

  1. सबसे पहले एक प्‍लेटफार्म का चयन करना होता है । पॉपुलर प्लेटफॉर्म्स में WazirX, Zebpay, Coinswitch Kuber और CoinDCX के नाम शामिल हैं ।
  2. अब इन प्लेटफॉर्म्स पर साइन अप करना होगा । 
  3. इसके बाद अपना KYC प्रोसेस पूरा करना होगा । 
  4. KYC प्रोसेस पूरा  कर लेने के बाद इसके वॉलेट में  आपको मनी ट्रांसफर करना होता है ।
  5. बस अब आप क्रिप्‍टों करेंसी खरीद सकते हैं ।
  6. इन्वेस्टर्स Coinbase और Binance जैसे इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म्स से Bitcoin, Dogecoin और Ethereum जैसी दूसरी क्रिप्टोकरेंसी भी खरीद सकते हैं ।

Top 10 Cryptocurrency

Top 10 Cryptocurrency | what is cryptocurrency in hindi

क्रिप्‍टोकरेंसी क्‍या है ? यह काम कैसे करता है जानने के  बाद अब हम Top 10 Cryptocurrency देख लेते हैं । जैसे कि पहले भी बताया जा चुका है कि आज 4000 से भी अधिक  controversies प्रचलन में है । इनमें सबसे ज्यादा जो प्रचलन में है हम उन  controversies के बारे में जानेंगे-

1. Bitcoin (BTC)

Bitcoin (BTC) kya hai

Bitcoin (BTC) बिटकॉइन की कीमत आसमान छू रही है । मई 2016 में, आप लगभग 500 डॉलर में बिटकॉइन खरीद सकते थे। 1 अप्रैल, 2022 तक, एक बिटकॉइन की कीमत $46,300 से अधिक है। मतलब इसमें 9,000% से अधिक की वृद्धि हुई है ।

ये भी पढ़े – Bitcoin Kya Hai In Hindi

2.Ethereum (ETH)

.Ethereum (ETH) kya hai

 Ethereum program developers के लिए एक favorite Cryptocurrency है क्‍योंकि इसके applications की potential अधिक है । Bitcoin के बाद ये दूसरा सबसे प्रसिद्ध Cryptocurrency है। अप्रैल 2016 से अप्रैल 2022 की शुरुआत तक, इसकी कीमत लगभग $11 से बढ़कर $3,450 हो गई, जो 31,000% से अधिक बढ़ गई।

3. Litecoin (LTC)

Litecoin (LTC) kya hai

इसके बनने के पीछे Bitcoin का बहुत बड़ा हाथ है और इसकी बहुत सारी features Bitcoin से मिलती झूलती हैं।  Litecoin की block generation की time Bitcoin के मुकाबले 4 गुना कम है । इसलिए इसमें Transaction बहुत ही जल्दी हो जाता है। 

4. Dogecoin

 Dogecoin kya hai

आज Dogecoin की Market Value है $197 million से भी ज्यादा और इसे पूरे विश्व में 200 merchants से भी ज्यादा द्वारा accept किया जाता है । इसमें भी दूसरों के मुकाबले बहुत Mining जल्दी होती है ।

5. Tether (USDT)

Coinmarketcap.com के अनुसार, 17 जनवरी को 78 बिलियन डॉलर के मार्केट कैप के साथ टीथर सबसे बड़ी स्थिर मुद्रा है। इस कारण क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने के इच्छुक लोगों के लिए सबसे लोकप्रिय विकल्पों में से एक है । 

6. Binance Coin (BNB)

 Binance Coin (BNB) kya hai

यह क्रिप्टोकुरेंसी बिनेंस क्रिप्टो एक्सचेंज की मूल क्रिप्टोकरेंसी है, जो वॉल्यूम के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा एक्सचेंज है।

2017 में BNB की कीमत सिर्फ $0.10 थी। अप्रैल 2022 की शुरुआत तक, इसकी कीमत बढ़कर लगभग 445 डॉलर हो गई थी, जो लगभग 445, 000% का लाभ था।

7. Solana (SOL)

जब इसे 2020 में लॉन्च किया गया, तो SOL की कीमत $ 0.77 से शुरू हुई। 1 अप्रैल, 2022 तक, इसकी कीमत लगभग $136 थी, 17,500% से अधिक का लाभ था।

8. Ripple (XRP)

2017 की शुरुआत में, एक्सआरपी की कीमत $ 0.006 थी। अप्रैल, 2022 तक, इसकी कीमत 0.83 डॉलर तक पहुंच गई, जो कि 13,700% से अधिक की वृद्धि के बराबर है।

9. Cardano (ADA)

प्रमुख Cryptocurrency की तुलना में Cardano (ADA) के एडीए टोकन में अपेक्षाकृत मामूली वृद्धि हुई है। 2017 में, ADA की कीमत $0.02 थी। 1 अप्रैल 2022 तक इसकी कीमत 1.17 डॉलर थी। यह 5,750% की वृद्धि है।

10.Terra (LUNA)

3 जनवरी, 2021 से, जब इसकी कीमत $0.64 थी, अप्रैल 2022 की शुरुआत तक, लूना 16,400% से बढ़कर $106 हो गई है।

Cryptocurrency का भविष्य

Cryptocurrency Kya Hai  के बारे में दो बातें सबसे अहम हैं- एक, ये डिजिटल यानी इंटरनेट के ज़रिए इस्तेमाल होने वाली मुद्रा है और दूसरे, इसे पारंपरिक मुद्रा के विकल्प के तौर पर देखा जाता है । क्रिप्टोकरेंसी  का सबसे नकारात्‍मक पक्ष  इस पर भरोसे का संकट है । 

कई देशों की सरकार इसे शक की नजरों से देखती हैं और इसे पारंपरिक करेंसी के लिए ख़तरा मानती हैं । सरकारों को ये भी लगता है कि क्रिप्टोकरेंसी नियंत्रण मुक्‍त होने के कारण खतरा पैदा कर सकता है ।

इसके बाद भी क्रिप्टो करेंसी विश्‍वभर में लोगों द्वारा पसंद किए जा रहे हैं, उपयोग में लाये जा रहे है । जिस दिन सरकारों का शक दूर हो जायेगा और मान्‍यता प्राप्‍त हो जायेगा तब क्रिप्टोकरेंसी  पारंपरिक मुद्रा की तरह उपयोगी होगा और यह साधारण विनिमय का हिस्‍सा होगा ।

आशा है अब आप पूरी तरह यह समझ गए होंगे कि क्रिप्टो करेंसी क्या है । 

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 4.8 / 5. Vote count: 71

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published.