What is SIP in Hindi

Mutual Fund Investment से बहुत से लोग मालामाल हो रहे हैं । शेयर बाजार से मिलने वाली बंपर रिटर्न को देखते हुए अब ऐसे लोग भी यहां निवेश करना चाह रहे हैं जो स्‍टाक मार्केट के बारे में कुछ भी नहीं जानते । म्‍यूचुअल फंड में निवेश का सबसे आसान तरीका सिस्‍टमेटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान अर्थात सिप (SIP) है । आइये आज हम जानते हैं सिप क्‍या हैं ? (what is SIP  in hindi)

सिप क्‍या है ? (what is SIP in hindi)

सिप क्‍या है ?

SIP, Mutual Fund में Investment करने का सबसे आसान तरीका है । SIP का पूरा नाम Systematic Investment Plan है अर्थात यह व्‍यवस्थित निवेश योजना है । यह  बैंक के आरडी की ही तरह होता है, जिसमें निश्चित अंतराल पर निश्चित राशि निवेश किया जा सकता है  । यहां  बैंक से ज्यादा  बेहतर रिटर्न मिलने की संभावना होती है । 

सिप में दैनिक, साप्ताहिक या  मासिक किस्त के आधार पर म्यूचुअल फंड में निवेश किया जा सकता है । इस प्‍लान को मात्र 100 रुपये से भी शुरू कर सकते हैं । निवेशक के बैंक खाते से हर महीने तय समय पर तय राशि कटकर सिप में निवेश होती  है । 

बीते कुछ समय से सिप के जरिये म्यूचुअल फंड में  निवेश में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुआ है । 

पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट के अनुसार मासिक वेतन पाने वालों के लिए SIP के माध्यम से निवेश करना  म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने का सबसे अच्छा तरीका है। आशा है अब यह समझ गए होंगे कि सिप क्‍या है ? (what is SIP in hindi)

SIP में निवेश कैसे करें (how to start SIP investment) 

SIP में निवेश कैसे करें

What is SIP? सिप क्‍या है? यह जानने के बाद यह जानना आवश्‍यक है कि how to start SIP investment मतलब सिप में निवेश की शुरूआत कैसे करें ?  म्यूचुअल फंड एसआईपी में निवेश करने के दो तरीके हैं – या तो आप किसी म्यूचुअल फंड वितरक की मदद लें या इसे खुद ऑनलाइन करें।  SIP खाता ऑनलाइन कैसे खोलें? चलिए इसी पर पहले बात कर लेते हैं ताकि आप खुद एसआईपी में  ऑनलाइन निवेश कर सकें । आइये इसे step wise समझें-

1. उद्देश्य तय करना 

SIP में निवेश करने के पूर्व अपनी आवश्यकता और उस आवश्यकता की पूर्ति कैसे हो यह स्पष्ट कर लेना चाहिए । मतलब उद्देश्य स्पष्ट कर लेना चाहिए है कि आप निवेश क्यों करना चाहते हैं । आवश्यकता के अनुरूप कब और कितना रिटर्न चाहिए यह तय हो जायेगा ।

2: आवश्‍यक दस्‍तावेज एकत्र करना 

SIP investment  प्रक्रिया में सबसे महत्‍वपूर्ण होता है KYC करना इसके लिए पहचान पत्र एवं पता प्रमाणीकरण दस्‍तावेज के साथ-साथ बैंक विवरण देने की आवश्‍यकता होती है । इसके लिए निम्‍न दस्‍तावेज एकत्र करके पहले से रख लेना चाहिए-

  1. आधार कार्ड, पैन कार्ड या ड्राइविंग लायसेंस या पासपोर्ट
  2. बैंक पास बुक
  3. स्‍वयं की फोटो (JPG OR PNG)

3. पंजीकरण (Registration)

अपने आप को एक सिप निवेशक के रूप में पंजिकृत करने के लिए किसी AMC website या RTA website का चयन करना होगा फिर उस वेबसाइट में  एक एकाउन्‍ट क्रियेट करना होगा । यह एकाउन्‍ट free  में बनता है । इसके लिए आपके पास एक वैध email ID और मोबाइल नंबर चाहिए । create account में जाकर पूछी गई जानकारी भर दीजिए । अपने लिए एक सुरक्षित पासवर्ड बना लीजिए बस एकाउन्‍ट बन गया ।

4. निवेश अवधि तय करना

निवेश करने का उद्देश्‍य जब तय हो जायेगा तो यहां यह भी तय हो जायेगा की आपको आवश्यकता कब है । उस आवश्यकता की पूर्ति के लिए आवश्यक समय में धन उपलब्ध हो सके इतने समय का चयन करना चाहिए । यदि मान लो आपने यह तय किया है कि पांच साल बाद आपको अपने बच्‍चों का विवाह करना है, तो आपको निवेश की अवधि 5 वर्ष रखना चाहिए ।

5. KYC की प्रक्रिया पूरा करना

म्युचुअल फंड निवेश करने के लिए प्राथमिक आवश्‍यकता  KYC करना होता है । केवाईसी पंजीकरण को सरल बनाता है, इस प्रक्रिया में ग्राहक को अपना विवरण डिजिटल रूप से जमा करना होता है, जैसे- आधार नंबर, पैन, आधार-पंजीकृत मोबाइल नंबर,बैंक विवरण आदि ।

6. योजना का निर्धारण करना

SIP में निवेश करने के पहले अपनी आवश्‍यकता के अनुरूप एक अच्‍छी योजना का चयन करना आवश्‍यक होता है ।  आपको उन योजनाओं को चुनना चाहिए जिसमें आप  आसानी से निवेश कर सकें, जिसमें आपकी आवश्‍यकता की पूर्ति हो सके, जिसमें जोखिम कम से कम हो।  
आप म्यूचुअल फंड वितरकों या सीधे फंड हाउस के माध्यम से एसआईपी में निवेश कर सकते हैं। इसमें वितरकों के माध्यम से निवेश करना ज्‍यादा बेहतर माना जाता है क्योंकि इसमेंविभिन्न फंड हाउस की कई योजनाएं एक ही स्‍थान पर मिल जाता है, जो सीधे कंपनी के माध्यम से निवेश करने में नहीं हो सकता ।

7. निवेश राशि तय करना 

 SIP  निवेश करने की प्रक्रिया में निवेश राशि का निर्धारण महत्वपूर्ण है। म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय आपको अपनी आवश्‍यकता की राशि और राशि कितने समय में चाहिए यह ध्‍यान रखना होगा । निवेश राशि तय करने के लिए आप  SIP calculator का उपयोग कर सकते हैं यह आपको यह समझने में मदद करता है कि  आपको राशि, आवश्‍यक समय के लिए कितनी राशि निवेश करना चाहिए  साथ ही,  सुनिश्चित करता है कि आपको अपने मौजूदा खर्चों के लिए किसी वित्तीय संकट का सामना न करना पड़े । 

8. निवेश की निगरानी करना

अपने  निवेश सफल होने के लिए आ को अपने निवेश पर लगातार नजर रखने की जरूरत भी होती है।  यह जांचने की आवश्यकता होती है कि आपका फंड आवश्यक परिणाम दे रहा है या नहीं। आपको समय-समय पर अपने पोर्टफोलियो में  पुनर्संतुलन का जांच करना चाहिए जिससे निवेश अधिक प्रभावी हो सके। 

Top 10 SIP फंड

Top 10 SIP फंड

what is SIP  और  how to start SIP  investment  जानने के बाद Top 10 एसआईपी फंड के बारे में जाने लेते है इसे सुविधा की दृष्टि से दो भागों में बांटा गया है- एक इक्विटी फंड एवं दूसरा डेट फंड ।

इक्विटी फंड

1. Axis Bluechip Fund Monthly SIP:   

यह लंबे समय में बड़ी पूंजी तैयार करने के लिए बेहतरीन प्लान है । यह एक open-ended equity scheme है जिसका track record बहुत ही अच्‍छा रहा है  । इसमें  large cap companies के large cap stocks में पैसे लगाए जाते हैं ।  यदि इस प्लान के तहत  कोई निवेशक पांच साल के लिए 10 हजार रुपये की एसआईपी करता है तो वह 6 लाख रुपये का निवेश करेगा जो 5 साल में 7.24 लाख रुपये बन सकता है ।

2. ICICI Prudential Bluechip Fund: 

यह  भी एक open-ended equity scheme  है जिसका पैसा  large cap stocks में लगाया जाता है. अब तक के ट्रैक रिकॉर्ड के हिसाब से इस फण्‍ड में 10 हजार रुपये की मासिक एसआईपी 5 साल में 6.29 लाख रुपये तक बन सकता है ।

3. SBI Bluechip Fund: 

इस फंड का पैसा equity से जुड़े Instruments में लगाया जाता है । यह लंबे समय में पूंजी बढ़ाने के लक्ष्य को पूरा करने में उपयोगी है ।  इस योजना के अंतर्गत 10 हजार रुपये की पूंजी से 5 साल में 6.3 लाख रुपये या  इससे अधिक की पूंजी बनाई जा सकती है ।

4. Mirae Asset Large Cap Fund: 

इसके तहत पैसा इक्विटी और इक्विटी से जुड़े इंस्ट्रूमेंट्स में लगाया जाता है । large cap fund के रूप में इस फंड का 71.54 फीसदी पैसा large cap fund में, 13.15 फीसदी midcap औऔऱ 3.62 फीसदी small cap stocks में लगाया जाता है । इस योजना के तहत  10 हजार रुपये की एसआईपी 5 साल में 6.72 लाख रुपये की पूंजी बन सकती है ।

5. SBI Multicap Fund: 

इसका पैसा इक्विटी और डेट इंस्ट्रूमेंट्स में लगाया जाता है । यउि इस योजना के तहत हर महीने 10 हजार रुपये लगाते हैं तो 5 साल के आखिरी में 6.69 लाख रुपये की पूंजी खड़ा किया जा सकता है।

डेट फंड

6. HDFC Short Term Debt Fund: 

यह एक short duration fund और moderately low-risk डेट म्यूचुअल फंड है । इसमें हर महीने लगाए गए दस हजार रुपये पांच साल में 7.4 लाख रुपये बन सकते हैं 

7. Aditya Birla Sun Life Savings Fund: 

इसके तहत  कम अवधि में अच्‍छा मुनाफा कमाया जा सकता है ।   हर महीने 10 हजार रुपये लगाकर पांच साल में 6.81 लाख रुपये की पूंजी बना सकते हैं. ।

8.SBI Magnum Medium Duration Fund: 

यह medium duration fund है और इसका पैसा debt funds, सरकारी securities और बहुत low risk वाली में लगाया जाता है । यह उन निवेशकों के लिए एक अच्‍छा विकल्प  है जो अधिक रिस्क नहीं उठाना चाहते ।

9. Nippon India Low Duration Fund: 

यह एक Open-ended Debt Mutual Funds है । इस फंड का पैसा मनी मार्केट सिक्योरिटीज और डेट म्यूचुअल फंड्स में लगाया जाता है । इयह उन निवेशकों के लिए एक अच्‍छा विकल्प  है जो कम समय में मही अधिक  पाना चाहते हैं ।

10. L&T Low Duration Fund: 

यह ऑप्टिमल रिटर्न के लिए जाना जाता है जो एक ओपन एंडेड डेट फंड है ।   महीने 10 हजार रुपये की एसआईपी करके पांच साल में  7.29 लाख बनाया जा सकता है ।

SIP में पैसा लगाने के फायदे-

लगाने के फायदे-
  1. SIP में निवेश करने के लिए बाजार को समय देने के आवश्‍यकता नहीं होती, आपके बैंक एकाउन्‍ट से निश्चित तारिख फण्‍ड SIP में ट्रांसर्फर हो जाता है ।
  2. SIP निवेश जोखिम को दूर करता है ।
  3. SIP में रिटर्न एमाउन्‍ट रिइनवेस्‍ट होता जाता है, जिससे निवेश एमाउन्‍ट कई गुना बढ़ जाता है ।
  4. निवेश करने में इन्‍वेस्‍टमेंट पीरियड और अमाउंट को लेकर फ्लैक्सिबिलिटी रहती है ।

SIP में  जोखिम

SIP में  जोखिम

हालांकि, एसआईपी में जोखिम को फंड मैनेजर और फंड हाउस द्वारा प्रबंधित और कम किया जा सकता है, फिर भी इसमें भी जोखिम की आंशका होती है । यह जोखिम निवेश किए गए फण्‍ड की प्रकृति और उसके उतार-चढ़ाव पर निर्भर  करता है ।  एसआईपी में जोखिम का आकलन SIP calculator  जैसे उपकरण से किया जा सकता है ।

उपसंहार

विश्‍वास है कि इस आलेख में आप यह समझ गयें होंगे कि what is SIP और how to start SIP investment । इसके अपने लाभ है तो इसमें कुछ जोखिम की भी आशंका है । किन्‍तु जोखिम को फण्‍ड मैनेजर प्रबंधित एवं नियंत्रित करके कम से कम कर सकता है । कुल मिलाकर SIP में निवेश करना एक बेहतर विकल्प है फिर भी इसका चयन करना या न करना आपके विवेक पर निर्भर करता है । 

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 4.7 / 5. Vote count: 9

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published.