Sovereign Gold Bonds 2022 | साॅवरेन गोल्ड बान्ड्स (SGB) विस्तृत जानकारी

सोना अत्यन्त प्रतिष्ठत सम्पत्ति है जिसमें भारतीय परिवारों के सामाजिक तथा भावनात्मक मूल्य जुड़े होते हैं। सोने में निवेश करना शुभ माना जाता है और इसकी कीमत बढ़ती ही रहती है, परन्तु सोना रखने में रिस्क तथा रखरखाव का खर्च होता है।

Sovereign Gold Bonds योजना की शुरूआत गोल्ड मुद्रीकरण योजना के तहत नवम्बर 2015 में की गयी थी, जिसका उद्देश्य बाजार में सोने की मांग के कम करना तथा सोने की खरीद के लिए की गयी घरेलू बचत के एक हिस्से को वित्तीय बचत के लिए निवेश करना है।

Sovereign Gold Bonds क्या है?

Sovereign Gold Bonds क्या है?
img souce : canva

Sovereign Gold Bonds RBI द्वारा  भारत सरकार की ओर से जारी बान्ड स्कीम (प्रतिभूतियाँ) है जिसके जरिये आप सोने में निवेश आसानी से और सुविधाजनक तरीके से कर सकते है। इस योजना के तहत आप एक निश्चित ब्याज दर अर्जित करने के साथ ही साथ जोखिम और भंडारण की लागत को समाप्त कर सकते है। यह योजना किस्तों के हिसाब से चलती है। 

SGB में लाभ सोने की कीमत पर आधारित होते है, तथा निवेशक प्रारम्भिक निवेश पर 2.5% का अतिरिक्त ब्याज निश्चित रूप से पाते है। इस स्कीम में निवेशक को ब्याज तथा निकासी राशि पर साॅवरेन गारंटी होती है तथा उसके पास सोने को भौतिक अथवा डीमैट रूप में रखने का विकल्प होता है।

साॅवरेन गोल्ड बान्ड (Sovereign Gold Bonds) हेतु पात्रता

साॅवरेन गोल्ड बान्ड किसी भी व्यक्ति, एचयूएफ (Hindu Undivided Family), ट्रस्ट, विश्वविद्यालयों और धर्मार्थ संस्थानों के लिए बिक्री हेतु उपलब्ध रहेंगे। ये बान्ड नाबालिग के नाम पर भी खरीदे जा सकते है ऐसे में नाबालिग के अभिभावकों द्वारा स्कीम के लिए आवेदन करना होगा। Sovereign Gold Bonds संयुक्त ग्राहक के तौर पर भी खरीदा जा सकता है।

Sovereign Gold Bonds के फायदे

  • गोल्ड बान्ड पर निवेश करने पर आपको प्रतिवर्ष 2.5% ब्याज मिलता है।
  • इस स्कीम के तहत आप कम से कम 1 ग्राम सोने के लिए भी बान्ड खरीद सकते है।
  • गोल्ड बान्ड के बदले आप लोन के लिए भी आवेदन कर सकते है।
  • इस स्कीम में निवेश करने वाले इंडिविजुअल्स को लान्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स नही देना पड़ता है।
  • गोल्ड बान्ड में निवेश करने पर टीडीएस (TDS) नही कटता है।
  • सोने के रखरखाव की लागत में बचत।

Sovereign Gold Bonds कहाँ से खरीदें?

Sovereign Gold Bonds कहाँ से खरीदें?
img source: canva

साॅवरेन गोल्ड बान्ड आप किसी राष्ट्रीयकृत बैंक, स्टाॅक होल्डिंग कारपोरेशन आफ इंडिया लिमिटेड, प्रमुख डाकघरों, एनएसई (NSE) तथा बीएसई (BSE) से खरीद सकते हैं।

Sovereign Gold Bonds की निवेश सीमा

  • Sovereign Gold Bonds स्कीम के द्वारा निवेश थोड़ा थोड़ा करके किया जा सकता है, आप न्यूनतम 1 ग्राम और उसके गुणकों में सोने में निवेश कर सकते है। अधिकतम 4 किलो सोने की खरीद एक व्यक्ति और एचयूएफ (HUF) के तौर पर की जा सकती है जबकि एक संस्था व अन्य 20 किलो तक सोना खरीद सकती है।
  • संयुक्त धारिता के मामले में अधिकतम निवेश सीमा, जो कि 4 किलोग्राम है, वह केवल प्रथम आवेदक पर लागू होती है।

SGB KYC Documents

स्वर्ण बान्ड की खरीद पर KYC डाक्यूमेंट्स और नियम वही होगें जो सोना खरीदते समय लगते है। केवाईसी हेतु निम्न दस्तावेजों का होना अनिवार्य है।

  • पैन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्बर
  • ईमेल आईडी
  • इत्यादि

Sovereign Gold Bonds Details

Sovereign Gold Bonds Details
img source : canva

SGB की अवधि

  • बान्ड की अवधि 8 वर्ष होती है जिसमें 5वें वर्ष के बाद से योजना से बाहर निकालने का प्रयोग ब्याज भुगतान की तारीखों पर किया जा सकता है।

SGB की ब्याज दर

  • इस योजना के तहत किये गये निवेश पर निवेशकों को एक निश्चित दर पर ब्याज दिया जाता है, जो कि 2.5 % है, और प्रति छह माह पर देय होती है।
  • स्कीम अवधि की समाप्ति के समय अतिंम ब्याज मूलधन के साथ दिया जाता है।

SGB योजना पर टैक्स

  • इस योजना के अंतर्गत अर्जित किया गया लाभ अथवा ब्याज पर आयकर अधिनियम 1961 की धारा 43 के तहत, टैक्स में छूट है, इस स्त्रोत पर टीडीएस (TDS) कटौती नही होती है।
  • बान्ड के हस्तांतरण पर किसी भी व्यक्ति को होने वाले दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ के लिए इंडेक्सेशन लाभ प्रदान किया जाएगा।

SGB के तहत भुगतान

  • गोल्ड बान्ड के सभी भुगतान नगद में (अधिकतम 20,000 रूपये तक) अथवा डिमान्ड ड्राफ्ट से अथवा चेक से अथवा नेट बैंकिग के द्वारा किये जा सकते है। 
  • चेक अथवा डिमान्ड ड्राफ्ट प्राप्तकर्ता कार्यालय के पक्ष में भुगतान के लिए भेजे जाते है।

SGB बान्ड के तहत निकासी (Redemption)

  • स्वर्ण बान्ड जारी होने की तारीख से 8 वर्ष के बाद निकासित किये जा सकते है परन्तु आप परिपक्वता पूर्ण होने से पूर्व 5वें वर्ष की समाप्ति के बाद ब्याज भुगतान की तारीख पर निकासित कर सकते है।
  • स्वर्ण बान्ड की पर निवेश की निकासी भारतीय रूपयों में होगी तथा स्वर्ण मूल्य का निर्धारण इंडिया बुलियन एण्ड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड द्वारा किया जाता है जो पिछले 3 दिनों में 999 शुध्दता के सोने पर चल रहा होता है।

SGB के एवज मे लोन (Loan Against Sovereign Gold Bonds)

Sovereign Gold Bonds का उपयोग आप Loan लेने के लिए कर सकते हैं। ये बान्ड गारंटी के तौर पर जमा किये जाते है और लोन की राशि स्वर्ण की धनराशि के बराबर हो सकती है। 

लोन पर लगने वाली ब्याज दर लोन दाता के द्वारा निर्धारित की जाती है जो सामान्य लोन पर लगने वाली दर के बराबर होती है।

Sovereign Gold Bonds की विशेषताएँ

  • निवेशक व्यक्तिगत हो या संयुक्त हो, नामिनी के रूप में अधिकतम दो लोगो को नामित कर सकते है।
  • निवेशकों के पास बैंक बचत खाता होना अनिवार्य है।
  • साॅवरेन गोल्ड बान्ड शेयर मार्केट में ट्रेडिंग के लिए पात्र होते है।
  • नये Sovereign Gold Bonds RBI इश्यू करने से पहले, इस बारे में मूल्य विवरण के साथ प्रेस विज्ञप्ति देता है। बान्ड का मूल्य इंडिया बुलियन एण्ड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड (IBJA) द्वारा निर्धारित किया जाता है जो पिछले 3 दिनों के 999 शुध्दता के स्वर्ण मूल्य पर आधारित होता है।
  • बान्ड को डीमैट के रूप में भी परिवर्तित किया जा सकता है।

Sovereign Gold Bonds किस्त पर कमीशन

स्वर्ण बान्ड पर कुल आवेदनो पर जमा कुल किस्त की धनराशि पर 1% कमीशन प्राप्तकर्ता कार्यालयों को देय होगा, जिसका 50% हिस्सा वह एजेंटो एंव उप-एजेंटो के साथ साझा करते है।

तो दोस्तो, Sovereign Gold Bonds RBI द्वारा भारत सरकार की ओर से जारी किये जाते है। Sovereign Gold Bonds का यह लेख आपको कैसा लगा, कमेंट सेक्शन में लिखकर जरूर बताइये तथा इस जानकारी भरे लेख को अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें। 

Sovereign Gold Bonds: FAQs

गोल्ड बाॅन्ड कैसे खरीदें?

गोल्ड बाॅन्ड ऑनलाइन खरीदने के लिए अपनी बैंक के नेटबैंकिग में लागिन करें। यहाँ पर होम पेज पर e services का आप्शन होगा जिस पर क्लिक करे, इसके बाद सावरेन गोल्ड बान्ड पर क्लिक करें और परचेज के आप्शन पर क्लिक करें इसे खरीदें।

मुझे सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड सर्टिफिकेट कैसे मिलेगा?

आपके द्वारा खरीदे गये साॅवरेन गोल्ड बान्ड की एक प्रति आपको बैंक से मिलेगी, जिसके लिए आपको बैंक जाना होगा। यह बान्ड प्रति आप नेटबैंकिग का इस्तेमाल कर ऑनलाइन भी डाउनलोड कर सकते हैं।

आज एसजीबी बांड रेट क्या है?

चालू वित्त वर्ष में एसजीबी बांड रेट 5091 प्रति ग्राम सोना है। इस योजना के तहत सरकार लोगों को उचित दाम पर सोना खरीदने का बेहतरीन अवसर देती है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए कौन सा बैंक सबसे अच्छा है?

साॅवरेन गोल्ड बाॅन्ड किसी भी बैंक से खरीदे जा सकते हैं और सभी बैंक अच्छी सुविधा देने का प्रयास करते हैं। सर्विसेज के मामलें में, प्राइवेट बैंक अच्छे विकल्प हो सकते हैं, हालाॅकि इस मामले में स्टेट बैंक आफ इण्डिया सबसे अच्छा बैंक हो सकता है।

सबसे अच्छा सोना कौन सा होता है?

निवेश के उद्देश्य से 24 कैरेट सोना सबसे अच्छा होता है। यह 99.9 फीसदी शुद्ध होता है, इतना शुद्ध सोना बहुत नरम होता है जिससे इनसे आभूषण नही बनाये जा सकते हैं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 4.6 / 5. Vote count: 5

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published.